Thursday, October 21, 2021

 

 

 

पैसे देकर TRP बढ़ावाता है रिपब्लिक भारत, मुंबई पुलिस ने किया बड़ा खुलासा

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: मुंबई पुलिस ने आज फेक TRP (Television Rating Point) को लेकर बड़ा खुलासा किया है। मुंबई पुलिस के कमिश्नर परमवीर सिंह ने बताया कि रिपब्लिक टीवी समेत 3 चैनल पैसों के ज़रिए टीआरपी खरीद रहे थे। इसमे रिपब्लिक टीवी समेत  बॉक्स सिनेमा और एक मराठी चैनल का नाम शामिल हैं।

उन्होने बताया कि रिपब्लिक टीवी समेत टीआरपी को कैलकुलेट करने वाली एजेंसी BARC से जुड़ी एक हंसा नाम की एजेंसी देश भर में 3000 से ज्यादा पैरामीटर्स का जिम्मा संभाल रही थी। जिसमे मुंबई में तकरीबन 2000 पैरामीटर्स का मेंटेनेंस भी शामिल है। ये टीआरपी के साथ छेड़छाड़ कर रही थी।

पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ़्तार किया है। पुलिस ने उनसे 20 लाख रुपए बरामद करने का भी दावा किया है। पुलिस के अनुसार संदिग्ध चैनलों के बैंक खातों की भी जाँच हो रही है और यह भी देखा जाएगा कि फ़र्ज़ी टीआरपी के आधार पर मिला विज्ञापन क्या अपराध का पैसा होगा।

पुलिस के अनुसार लोगों को अपने घरों में किसी विशेष चैनल को अपने टीवी पर लगाने के लिए क़रीब 400-500 रुपए हर महीने दिए जाते थे। पुलिस कमिश्नर ने कहा कि चैनलों के ज़िम्मेदार लोगों के ख़िलाफ़ भी कार्रवाई होगी। पुलिस कमिश्नर ने कहा कि रिपब्लिक टीवी के मालिक और एडिटर-इन-चीफ़ अर्णब गोस्वामी को भी समन भेजा जाएगा।

वहीं अर्णब गोस्वामी ने आरोपो पर कहा- ‘परमबीर सिंह झूठ बोल रहे हैं, रिपब्लिक टीवी मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराएगा’ उन्होने कहा, कहा- ‘क्या सुशांत के लिए लड़ना गलती है मेरी? पहले भी हम लड़े हैं और आज भी हम लड़ेंगे और जीतेंगे। परमबीर सिंह की जांच संदेह के घेरे में है इसलिए वो बौखलाए हुए हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles