1738 khushbu sundar

1738 khushbu sundar

नई दिल्ली । देश में सोशल मीडिया के बढ़ते इस्तेमाल ने राजनीतिक दलो को एक हथियार मुहैया करा दिया है। अब चुनावी जंग ज़मीन के अलावा सोशल मीडिया पर भी लड़ी जा रही है। इसके अलावा विपक्षी नेताओ का मनोबल गिराने के लिए भी सोशल मीडिया का ख़ूब इस्तेमाल किया जा रहा है। हर राजनीतिक दल का एक आईटी सेल है जो पूरा दिन इसी काम में लगा रहता है। इसके अलावा राजनीतिक दलो के समर्थक भी यह काम बख़ूबी अंजाम देते है।

कांग्रेस नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता ख़ुशबू सुंदर सोशल मीडिया पर ख़ूब सक्रिय है। आजक वह ट्विटर का मोदी सरकार और भाजपा की नीतियो की काफ़ी आलोचना कर रही है। यही बात भाजपा समर्थकों को हज़म नही हो रही है। इसलिए गाहे बगाहे वह इन लोगों के निशाने पर आ जाती है। इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ। कुछ ट्विटर यूज़र लगातार ख़ुशबू को मुस्लिम क़रार देने पर तुले हुए है।

ये लोग यह बात साबित करने में लगे हुए है की ख़ुशबू का असली नाम नख्त खान है। दक्षिणी फ़िल्मों की मशूहूर अभिनेत्री खूशबु को यह नाम इसलिए दिया गया क्योंकि उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के उस दावे की हवा निकालने की कोशिश की कि वह एक चाय वाले है। उन्होंने एक तस्वीर को शेयर करते हुए बताया की मोदी जिस रेलवे स्टेशन पर चाय बेचने का दावा करते थे वह उस समय बना ही नही था।

इस ट्वीट पर ट्वीटर यूज़र ने उन्हें नख्त खान क़रार देते हुए लिखा की आप ग़लत आँकड़े पेश कर रही है। इस पर ख़ुशबू बेहद शानदार जवाब देते हुए ट्वीट किया,’ कुछ ट्रॉलरों ने मेरे बारे में एक खोज की है कि मेरा नाम नखत खान है, यूरेका! मूर्खो ये मेरा नाम (खुशबू) मेरे माता-पिता द्वारा मुझे दिया गया है, और हाँ, मैं खान हूं, अब क्या हुआ? देर से अफवाहें फैलाने वालो, उठो, तुम 47 साल लेट हो’। मालूम हो कि ख़ुशबू 200 से ज़्यादा फ़िल्मों में काम कर चुकी है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें