ट्रिपल तलाक विरोध की पोस्टर गर्ल इशरत जहां जल्द ही बीजेपी छोड़ सकती है। इशरत जहां का कहना है कि पार्टी ने उनका कोई साथ नहीं दिया है। यदि वह सिलाई का काम नहीं करती तो परिवार को भूखे मरना पड़ता।

इशरत जहां उन 5 महिलाओं में शामिल हैं, जो ट्रिपल तलाक के खिलाफ 2015 में सुप्रीम कोर्ट गई थीं। हावड़ा के पिलखाना में रहने वाली इशरत के चार बच्चे हैं। ट्रिपल तलाक अभियान के दौरान 2018 में इशरत जहां बीजेपी में शामिल हुई थीं।

इशरत जहां का कहना है कि पिछले एक साल में मेरी हालत में कोई सुधार नहीं आया। उन्हाेंने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वह पार्टी के लिए लगातार काम कर रही हैं, लेकिन अब उन्हें नजरअंदाज किया जा रहा है। इशरत का कहना है कि अगर मैं सिलाई का काम नहीं करती तो मेरे परिवार को भूखा मरना पड़ता। बता दें कि घर चलाने के लिए पिछले एक साल से वह पार्ट-टाइम के तौर पर सिलाई का काम कर रही हैं।

bjp

इशरत ने बताया, ‘‘मैं एक साल से पार्टी के लिए काम कर रही हूं। रोजाना पार्टी के ऑफिस जाती हूं और मीटिंग में भी शामिल होती हूं। इसके बावजूद पार्टी ने मेरी कोई मदद नहीं की। पार्टी के काम की वजह से मेरा पूरा समय बर्बाद हो जाता है, जिसके चलते दुकानों से सिलाई के नए ऑर्डर नहीं ला पाती। अपने मौजूदा हालात को देखते हुए मैं अब बीजेपी छोड़ने पर विचार कर रही हूं।’’

इस मामले में बीजेपी के पश्चिम बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि मुझे उनकी हालत का पता नहीं था। देखते हैं कि पार्टी उनके लिए क्या कर सकती है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन