नई दिल्ली: विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने हज सब्सिडी वापस लेने के केंद्र के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि इससे बचने वाले पैसे का इस्तेमाल गरीब हिंदू लड़कियों की शिक्षा पर किया जाना चाहिए.

विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने निर्णय का स्वागत करते हुए कहा, ‘‘देर आये दुरूस्त आये.’’ उन्होंने कहा कि यह हिंदुओं की समूहिक मांग का परिणाम है. तोगड़िया नेकहा, ‘‘हम उम्मीद करते हैं कि इस कदम के बाद राम मंदिर निर्माण और गोहत्या रोकने के लिए राष्ट्रीय कानून आएगा.’’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तोगड़िया के इस बयान पर सोशल मीडिया में युजरों ने सवाल उठाना शुरू कर दिया है. एक यूजर ने कहा कि अयोध्या, काशी, मथुरा के तीर्थयात्रियों पर करोड़ो रु की लुट कब बंद होगी ? तो वहीँ एक यूजर ने कहा, तोगड़िया जी आपके प्रिय योगी जी से भी कहिये कि अयोध्या, काशी, मथुरा के तीर्थयात्रियों पर 800 करोड़ रुपये खर्च करने के बजाय गरीब हिंदू लड़कियों की शिक्षा पर इसे खर्च करे.

एक यूजर ने मानसरोवर यात्रा का मुद्दा उठाते हुए तोगड़िया से सवाल किया कि मानसरोवर यात्रा पर डेढ़ लाख रुपये यात्री क्यों दिए जा रहे है ? यहाँ गरीब हिंदू लड़कियों की शिक्षा याद नहीं आती. इसके अलावा सिंहस्थ महाकुंभ किये जा रहे अर्बोब रुपये के खर्च पर भी तोगड़िया घिरते हुए नजर आए.

यूजर ने कहा कि जब मध्य प्रदेश सरकार कुंभ पर 3400 करोड़ रुपये खर्च कर रही थी तो तोगड़िया जी के मुंह में क्या दही जमा था ? साथ ही राजस्थान में मंदिरों के जीर्णोद्धार और हिन्दू पुजारियों की ट्रेनिंग पर 26 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे थे तब तोगड़िया जी की बोलती क्यों बंद थी ?