विश्व हिंदु परिषद के पूर्व अध्यक्ष प्रवीण तोगडिया ने बुधवार को ट्रिपल तलाक पर लाये अध्यादेश को लेकर मोदी सरकार पर जमकर हमला किया। उन्होने कहा कि वह राम को भूल गयी है और तीन तलाक के मुददे पर ‘मुस्लिम पत्नियों’ की वकील बन गयी है।

तोगड़िया के मुताबिक 2014 में भाजपा सरकार इसलिए बनाई गयी थी जिससे राम मंदिर का निर्माण किया जा सके। लेकिन पीएम मस्जिदों में ही घूमने में व्यस्त हैं। वह तो राम के वकील बनने के बजाए मुस्लिम पत्नियों के वकील बनकर रह गये।

उन्होने बताया कि केंद्र सरकार को नींद से जगाने के लिए 21 अक्तूबर को उनके लाखों समर्थक लखनऊ से अयोध्या के लिए कूच करेंगे। विहिप छोड़ चुके और अब एक अन्य मिलते—जुलते संगठन अन्तरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष तोगड़िया ने कहा कि केंद्र सरकार अपने वादों से पीछे हट गयी है।

modii

एससीएसटी एक्ट के सवाल पर तोगड़िया ने कहा मोदी कहते हैं कोर्ट नहीं संसद निर्णय करेगी, लेकिन राम मंदिर के नाम पर मोदी ने अभी तक कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा लोकसभा चुनाव नजदीक है। इस बार हिंदुओं की सरकार बनेगी। सबका साथ सबका विकास में हिंदुओं का ही सम्मान नहीं है।

उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा था कि सत्ता के मद में चूर लोग यह जान लें कि हिंदू के बलबूते भाजपा है, भाजपा के बलबूते हिंदू नहीं। उन्होंने कहा कि इन चार वर्षों में आरएसएस के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ बार-बार बैठकें की। सरकार से राम मंदिर के लिए कानून बनाने की प्रार्थना की। संतों ने प्रधानमंत्री से मिलकर उन्हें बहुत समझाया, लेकिन अब तक कोई परिणाम नहीं आया है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano