रमजान का महिना आने ही वाला हैं जिसके चलते नूंह के रहने वाले पहलू खान ने दूध की जरूरत को पूरी करने के लिए गाय खरीदी थी. लेकिन मुस्लिम होकर उनका गाय खरीदना कथित गौरक्षकों के अखर गया और उनकी जान ले ली.

इस बार रमजान का महीना भरी गर्मी में आ रहा हैं. ऐसे में भैंसों ने दूध देना कम कर दिया. दूध की इसी जरूरत को पूरा करने के लिए पहलू खान पांच लोगों सहित तीन दिन पहले  जयपुर में नगर निगम की ओर से लगने वाले मेले में पहुंचे थे. मेले से ही उन्होंने पांच दुधारू गाय खरीदी थीं.

इसी के साथ उन्होंने नगर निगम द्वारा आयोजित मेले से गाय खरीदने और मेवात तक ले जाने की मंजूरी भी मेले के आयोजक और पुलिस से ले ली थी. लेकिन गाय खरीदकर वापस जाने के दौरान अलवर जिले के में बहरोड राजमार्ग पर कथित गौरक्षकों ने हमला कर दिया. इस दौरान सभी की बुरी तरह से पिटाई की गई. इलाज के दौरान मंगलवार को पहलू खान की मौत हो गई.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

स्‍थानीय बहरोर पुलिस के अनुसार सभी कथित गौरक्षक विश्‍व हिंदू परिषद और बजरंग दल से जुड़े हुए हैं. पहलू खान सहित सभी पीड़ितों ने गाय को खरीदने संबंधी दस्‍तावेज भी कथित गौरक्षकों को दिखाए थे. हमले में कुछ अन्य लोग भी घायल हुए हैं और उनका अस्पताल में उपचार चल रहा.

इन भगवा गुंडों ने पीड़ितों को मुस्लिम होने के कारण निशाना बनाया हैं. ड्राइवर अर्जुन जो की हिन्दू धर्म का था. उसे सुरक्षित जाने दिया गया. अलवर के डीसी मुक्तानंद अग्रवाल ने बताया कि अलवर हाई-वे पर मारपीट में घायल सभी लोग हरियाणा के मेवात जिले के रहने वाले हैं और मुस्लिम समुदाय के हैं.

Loading...