जाली नोट से निजात पाने के लिए केंद्र की मोदी सरकार में नोटबंदी को अपनाया था. जिसके लिए देश की जनता अब तक परेशानिया झेल रही हैं. सरकार की ओर से कहा गया था कि ऐसा करने से नकली नोट, आतंकवाद और कालेधन पर लगाम लग जाएगी. लेकिन नोटबंदी का ये मकसद भी पूरा होता नजर नहीं आ रहा हैं.

नोटबंदी को अभी दो महीने भी नहीं बीतें कि पड़ोसी मुल्क पकिस्तान ने 2000 रुपए के नकली नोट छापकर भारत में भेजना भी शुरू कर दिया हैं. इस बात का खुलासा बोर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) और नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) की हाल ही में नकली नोट बरामदगी से हुआ हैं.

8 फरवरी को मुर्शिदाबाद जिले से पुलिस ने अजीजुर रहमान (40) नाम के तस्कर को गिरफ्तार किया था. उसके पास से 2000 रुपए के 40 नकली नोट मिले थे. रहमान ने पूछताछ में बताया कि यह नोट कथित तौर पर ISI की सहायता से पाकिस्तान में प्रिंट हुए थे, जिनकी तस्करी बांग्लादेश के बार्डर से की गई. द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार भारत-बांग्लादेश बॉर्डर के जरिए इन 2000 के नकली नोटों को भारत भेजा गया.

जब्त किए गए नकली नोटों की जांच कराने पर पता लगा कि असली 2000 के नोट के 17 में से करीब 11 सिक्योरिटी फीचर नकल किए गए हैं. हालांकि बरामद किए गए नोटों की पेपर और प्रिंट क्वालिटी उतनी अच्छी नहीं थी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें