Friday, September 24, 2021

 

 

 

औरंगज़ेब की ह*त्या के मामले में तीन राष्ट्रीय राइफल्स के तीन जवान हिरासत में

- Advertisement -
- Advertisement -

सेना ने पिछले साल जून में आतंकियो के हाथों शहीद हुए औरंगजेब के अपहरण और ह’त्या में कथित संलिप्तता के शक में 44 राष्ट्रीय राइफल्स के तीन जवानों को हिरासत में लिया है। इन आरोपी जवानों से फिलहाल पूछताछ चल रही है।

इन पर आरोप है कि ये लोग अपने साथी औरंगजेब की ह’त्या और अपहरण में कथित तौर पर शामिल थे. तीनों जवानों की पहचान आबिद वानी, तजामुल अ‍हमद, और आदिल वनिआरे के तौर पर की गई है. इन लोगों ने औरंगजेब की आवाजाही की सूचना साझा की थी और जिसकी मदद से आतंकियों ने औरंगजेब के आर्मी कैंप से पुंछ स्थित घर के लिए निकलते ही उसका अपहरण कर लिया।

हिरासत में लिए गए तीन आरोपी जवानों में से एक आबिद वानी के भाई तवसीफ अहमद के साथ मारपीट की बात सामने आई है। बताया जाता है कि राष्‍ट्रीय राइफल्‍स के जवान ने अहमद के साथ कथित तौर पर मारपीट की है। कई जगह चोट आने के कारण तवसीफ अहमद को पहले पुलवामा के जिला अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। हालात बिगड़ने पर तवसीफ अहमद को श्रीनगर स्थित श्री महाराजा हरि सिंह अस्‍पताल रेफर कर दिया गया था। डॉक्‍टरों ने उनकी स्थिति को स्थिर बताया है। डिफेंस स्‍पोक्‍सपर्सन कर्नल राजेश कालिया ने घटना के ब्‍यौरे की छानबीन करने की बात कही है।

aurangzeb 3 news 1528972055 618x347

जम्‍मू-कश्‍मीर की पूर्व मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने महाराजा हरि सिंह अस्‍पताल जाकर आबिद वानी के घायल भाई तवसीफ अहमद से मुलाकात की। पूर्व सीएम ने बताया कि वह इस घटना के बाबत कोर कमांडर से बात करेंगी। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि वह इस बात को लेकर आश्‍वस्‍त हैं कि राज्‍यपाल (सत्‍यपाल मलिक) इस मामले पर संज्ञान लेंगे।

उनके मुताबिक, तवसीफ का भाई अभी भी लापता है, जिसके बारे में कोई खबर नहीं है। बता दें कि पिछले साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था। दो दिन पहले ही उनके पिता जम्मू की एक रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में बीजेपी में शामिल हुए थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles