नोटबंदी की आलोचना अब अंतरराष्ट्रीय संगठनों की और से शुरू हो चुकी हैं. पिछले तीन दिनों में आई तीन अंतरराष्ट्रीय रिपोर्ट्स में खुलासा हुआ हैं कि नोटबंदी के कारण आर्थिक विकास में बाधा उत्पन्न हुई हैं.

पहली रिपोर्ट वर्ल्ड बैंक की हैं जो 11 जनवरी को आई इस रिपोर्ट में कहा गया कि नोटबंदी की वजह से भारत की आर्थिक विकास की गति कम हो गई हैं. दूसरी रिपोर्ट इंटरनेशनल मॉनीटरी फंड (IMF) की हैं जिसमे कहा गया कि भारत के आर्थिक विकास की दर 6.6 रही जबकि पहले 7.6 रहने का अनुमान लगाया गया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

और तीसरी बड़ी रिपोर्ट वर्ल्ड इक्नॉमिक फोर्म (WEF) की हैं. जिसमें कहा गया कि  दुनिया भर की उभरती अर्थव्यवस्था के मामले में भारत चीन और पाकिस्तान से भी पीछे है. रिपोर्ट में कहा गया कि भारत 60वें नंबर पर है और पड़ोसी चीन 15वें और पाकिस्तान को 52वें नंबर दिया गया है। लिस्ट में कुल 79 देश शामिल हैं.

वर्ल्ड इक्नॉमिक फोर्म (WEF) की रिपोर्ट को ‘Inclusive Growth and Development Report 2017’ के नाम से स्वीट्जरलैंड के दावोस में रिलीज किया गया. रिपोर्ट में चीन को 15वीं पोजिशन मिली वहीँ नेपाल को 27वी इसके साथ बांग्लादेश 36वें और पाकिस्तान 52वें स्थान पर है.

Loading...