डीएसपी दविंदर सिंह ने जज से कहा – कोतवाल जेल में मेरी जान को खतरा

डीएसपी दविंदर सिंह और अन्य चार आरोपियों को जम्मू में एक विशेष राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) अदालत ने 15 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। दविंदर सिंह को हीरानगर जेल भेजा गया, जबकि अन्य आरोपी नवेद बाबू और तीन अन्य आरोपियों को कोतवालवाल जेल भेजा गया।

दविंदर सिंह ने जज से उसे हीरानगर सब जेल में रखने की गुहार लगाई। उसने कहा कि उसे जान का खतरा है। दविंदर सिंह ने जज को बताया कि कोतवाल जेल में कई आतंकवादी और आरोपी हैं जिन्हें उन्होंने गिरफ्तार किया था।

एक सूत्र ने कहा कि एनआईए उसका 30 दिन का पुलिस रिमांडचाहती थी। लेकिन NIA को 15 दिन की रिमांड मिली। इससे पहले दविंदर सिंह 10 दिन जम्मू-कश्मीर पुलिस की हिरासत में थे।

सूत्रों ने कहा कि दविंदर सिंह का फोन हटाए गए व्हाट्सएप चैट को निकालने के लिए सीईआरटी-इन (भारतीय कंप्यूटर आपातकालीन प्रतिक्रिया टीम) को भेजा गया है। Prima facie, कोई अन्य संदेश, चैट या मेल किसी भी राष्ट्र-विरोधी गतिविधि का संदर्भ नहीं देता है।

दविंदर सिंह को 11 जनवरी को जम्मू में एक वाहन में दो हिजबुल मुजाहिदीन आतंकवादियों – नावेद बाबू और रफी अहमद – और एक वकील इरफान अहमद के साथ यात्रा करते हुए पकड़ा गया था।

विज्ञापन