Wednesday, June 23, 2021

 

 

 

किसान आंदोलन के समर्थन में लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के सामने हुआ बड़ा प्रदर्शन 

- Advertisement -
- Advertisement -

नए कृषि कानून को लेकर राजधानी दिल्ली में हो रहे किसान आंदोलन की आंच सात समुंदर पार ब्रिटेन तक पहुंच गई है। लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के सामने किसानों के समर्थन में बड़ा प्रदर्शन किया गया। इस दौरान लंदन पुलिस को भारतीय दूतावास की सुरक्षा के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

स्कॉटलैंड यार्ड ने भारतीय उच्चायोग के बाहर ब्रिटेन के अलग-अलग हिस्सों से प्रदर्शनकारियों के जमा होने से पहले चेतावनी दी थी। उच्चायोग ने कहा कि यह काफी गंभीर मसला है कि महामारी के दौर में भारतीय उच्चायोग के सामने 3500-4000 लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन करते हुए एकत्रित कैसे हुए। तकरीबन 700 वाहन इस रैली में शामिल थे।

उच्चायोग को इस बात की जानकारी थी कि लंदन पुलिस ने 30 से अधिक लोगों को एकत्रित होने की इजाजत नहीं दी थी। लंदन पुलिस से पासओवर प्रोटेस्ट के लिए 40 वाहनों की इजाजत ली गई थी। मेट्रोपोलिटन पुलिस के कमांडर पॉल ब्रोगडेन ने कहा, ‘अगर आप निर्धारित 30 लोगों से अधिक की संख्या में एकत्र होकर नियम तोड़ते हैं तो आप अपराध कर रहे हैं जो दंडनीय है और जुर्माना लगाया जाएगा।’

बताया जा रहा है कि किसान आंदोलन के समर्थन में लंदन में हो रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान भारतीय उच्चायोग के सामने खालिस्तानी के झंडे भी लहराए गए। जिसका वीडियो भी सामने आया है।

इस पर भारतीय उच्चायोग का कहना है कि ये अलगाववादी और भारत विरोधी लोग थे जो किसानों के प्रदर्शन की आड़ में अपना भारत विरोधी एजेंडा साध रहे थे। भारत में कृषि कानून को लेकर हो रहा प्रदर्शन लोकतंत्र का हिस्सा है। भारत सरकार किसानों से बातचीत में लगी हुई है। यह कहने की जरूरत नहीं है कि यह भारत का आंतरिक मसला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles