hadi1

hadi1

इस्लाम धर्म अपना कर मुस्लिम युवक से शादी करने वाली हादिया उर्फ़ अखिला को आखिरकार सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आजादी मिल गई है. अब वह अपने माता-पिता की कैद से आजाद होकर तमिलनाडु के होम्योपैथी कालेज के हास्टल में रह कर अपनी ग्यारह महीने की इंटर्नशिप पूरी करेगी.

दरअसल सुप्रीम कोर्ट में पेशी के दौरान उसके पति शफीन जहाँ की और से पेश हुए वकील कपिल सिब्बल ने हादिया के बालिग़ होने का हवाला देते हुए कहा था उसकी आवाज को न दबाया जाए. ये हादिया की ज़िंदगी है उसको फैसला लेने का अधिकार है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जिसके बाद चीफ जस्टिस मिश्रा सहित तीन सदस्यों वाली बेंच ने 25 मिनट तक सीधे हादिया से बातचीत की. जिसमे हादिया से विभिन्न सवाल किये और आखिर में हादिया की इच्छाओं का सम्मान करते हुए उसे आजादी दे दी.

कोर्ट और बातचीत – 

कोर्ट : आपने कौन सी पढ़ाई की है?
हादिया : होम्योपथी डॉक्टर की पढ़ाई की है।

कोर्ट : आपने डॉक्टरी की पढ़ाई कैसे चुनी?
हादिया : पिता के कहने पर।

कोर्ट : कोई इंटर्नशिप करनी है या कर चुकी हो?
हादिया : हां, इंटर्नशिप करना चाहती हूं।
कोर्ट : पढ़ाई के अलावा और क्या शौक हैं?
हादिया : सिर्फ पढ़ाई या फिर कंप्यूटर पर फिल्म देखती हूं।

कोर्ट : घर में आप सबसे ज्यादा किसके नजदीक हैं?
हादिया : पिता के करीब हूं।

कोर्ट : भविष्य में किस तरह से सपने हैं?
हादिया : मैं आजादी चाहती हूं।

कोर्ट : मान-सम्मान से जिंदगी जीने के बारे में क्या सोचा है?
हादिया : मैं इंटर्नशिप यानी हाउससर्जनशिप करना चाहती हूं। कोर्स के बाद यह जरूरी है।

कोर्ट : जिंदगी कैसे जीना चाहती हो?
हादिया : मैं अपने विश्वास के हिसाब से जीना चाहती हूं।

कोर्ट : क्या राज्य सरकार के खर्चे पर पढ़ना चाहोगी?
हादिया : मैं अपने पति के खर्चे पर पढ़ना चाहती हूं, सरकार के नहीं।

कोर्ट : क्या हॉस्टल जाकर इंटर्नशिप करोगी?
हादिया : हां, मै चाहती हूं कि सलेम जाऊं।
कोर्ट : वहां स्थानीय गार्जियन किसको बनाना चाहती हो?
हादिया : मेरा पति ही मेरा गार्जियन बने। मैं उसी के साथ रहना चाहती हूं।

कोर्ट : यहां पति गार्जियन नहीं होगा, बल्कि तुम खुद आत्मनिर्भर होगी।
हादिया : जी, मैं अपने विश्वास पर अच्छी नागरिक बनूंगी।

Loading...