gurugram

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम में एक बार फिर से हिन्दू संगठनों के दबाव में बीजेपी सरकार ने मुसलमानों की धार्मिक स्वतंत्रता छीनने की कोशिश की है। लाउड स्पीकर पर अज़ान देने को लेकर हिन्दू संगठनों की शिकायतों के बाद एक मस्जिद को प्रशासन ने सील कर नमाज पर पाबंदी लगा दी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, तीन मंजिला बिल्डिंग में बनी मस्जिद के लाउडस्पीकर को लेकर विवाद हुआ था। हिन्दू संगठनों का आरोप है कि घर को मस्जिद के तौैर पर इस्तेमाल किया जा रहा है। घर पर ही लाउडस्पीकर पर अजान दिया जाता है। हिंदू संगठनों के शिकायत को देखते हुए अब प्रशासन ने मस्जिद को सील कर दिया।

प्रशासन के इस तानाशाही रवैये पर एक मुस्लिम बुजुर्ग का दर्द सामने आ गया। मुस्लिम बुजुर्ग का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमे 69 वर्षीय मोहम्मद अख्तर निराशा में चिल्लाते हुए कह रहे हैं, “मुझे बताएं कि कौन सा कानून आपको बिना किसी सूचना के हमारी मस्जिद को सील करने की अनुमति देता है। हम यहां पिछले छह महीनों से नमाज अदा कर रहे हैं। क्या कोई हमें बता सकता है कि क्या हमने यहां कोई सार्वजनिक उपद्रव किया है?

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वे आगे कहते है कि आयुक्त समेत सभी वरिष्ठ अधिकारियों ने हमें आश्वासन दिया। हमारी बहनें और बेटियां घरों पर नमाज अदा करती हैं। उन्हें भी सील करें और घोषणा करें कि मुसलमानों  के लिए भारत में कोई जगह नहीं है, वे यहां नहीं रह सकते हैं, वे यहां मर नहीं सकते हैं। “