Tuesday, June 22, 2021

 

 

 

स्टालिन की मौजूदगी बोली महिला धर्मगुरु – ‘हिंदुत्व नाम का कोई धर्म नहीं, हम सभी शैव और तमिल’

- Advertisement -
- Advertisement -

तमिलनाडु की प्रमुख विपक्षी पार्टी द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) के अध्यक्ष मुथुवेल करुणानिधि (MK) स्टालिन की मौजूदगी में धर्म उपदेशक कलाईरासी नटराजन (Kalairasi Natarajan) द्वारा दिये गए एक धर्म उपदेश ने बड़ा विवाद पैदा कर दिया है। दरअसल उन्होने अपने उपदेश में कहा कि दुनिया में हिंदुत्व नाम का कोई धर्म ही नहीं है।

उपदेशक ने कहा, “हिंदुत्व नाम का कोई धर्म है ही नहीं, हम सभी शैव और खासकर तमिल हैं। इसका अस्तित्व केवल कुछ शताब्दियों पहले था।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में बात करते हुए इसी कार्यक्रम में एक अन्य उपदेशक ने कहा कि वो अमीर लोगों के मित्र हैं और उनकी मदद करने के लिए ही सत्ता में आए हैं।

उपदेशक ने कहा कि वे अमीरों की मदद करते हैं लेकिन खुद के बारे में कहते रहते हैं कि वो गरीब परिवार से थे और उन्होंने बचपन में चाय बेची है। बिशप एर्ज़ा सरगुणम ने ये बातें कहते हुए दावा किया कि मोदी जो कहते हैं, वो उसके बिल्कुल विपरीत हैं।

इस बयान के सामने आने के बाद राजनीती शुरू हो गई है। वीएचपी नेता श्रीराज नायर ने कहा, “अतीत में लोगों द्वारा की गई गलतियों को स्टालिन को समझना चाहिए। जो लोग तुष्टिकरण की राजनीति में लगे हैं, वे इतिहास से मिट गए।”

वहीं तमिलनाडु के बीजेपी चीफ एल मुरुगन ने कहा, “डीएमके की कार्रवाई निंदनीय और अस्वीकार्य है।” बीजेपी नेता नारायण तिरुपति ने आरोप लगाया कि डीएमके हमारे धर्म को गाली देने वाले ऐसे लोगों को पैसे देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles