Monday, October 25, 2021

 

 

 

‘द टाइम’ मैगज़ीन का दावा – शिकायत पर भी FB नहीं हटाई थी मुस्लिम विरोधी पोस्ट

- Advertisement -
- Advertisement -

भारत में फेसबूक अधिकारियों पर बीजेपी के लिए काम करने के लग रहे आरोपो के बीच न्यूयॉर्क स्थित ‘द टाइम’ मैगज़ीन ने अपनी रिपोर्ट में बड़ा दावा किया है। जिसमे कहा गया कि शिकायत के बावजूद फेसबुक ने असम के एक भाजपा विधायक की घृणास्पद पोस्ट को नहीं हटाया था।

जनसत्ता के मुताबिक रिपोर्ट में कहा गया कि 2019 में ‘अवाज़’ नाम के एनजीओ की शिकायतों के बावजूद असम के विधायक शिलादित्य देव का हेट पोस्ट नहीं हटाया है। देव ने अपने पोस्ट में बांग्लादेशी मुसलमानों को बलात्कार के लिए दोषी ठहराया था। यह पोस्ट पिछले एक साल से फेसबुक पर है और हटाया नहीं गया है।

‘अवाज़’ के एक पूर्व अधिकारी ने बताया कि मामले पर जुलाई में एक घंटे की बैठक हुई थी, लेकिन फेसबुक के सबसे वरिष्ठ अधिकारी शिवनाथ ठुकराल आधी मीटिंग से यह कहकर चले गए कि उनके पास और भी जरूरी काम हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि शिलादित्य देव ने अपने फेसबुक से एक मुस्लिम व्यक्ति द्वारा एक लड़की को नशीली दवा देकर बलात्कार करने की एक रिपोर्ट शेयर की है। इस रिपोर्ट को शेयर कर उन्होंने लिखा ” 2019 में इसी तरह से बांग्लादेशी मुसलमान हमारे लोगों को निशाना बना रहे हैं।”

रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक में शामिल होने से पहले ठुकराल भाजपा के लिए काम करते थे। 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान उन्होने बीजेपी के लिए कैम्पेन किया था। ठुकराल ने पार्टी के एक वरिष्ठ अधिकारी के साथ मिलकर भाजपा समर्थक वेबसाइट और फेसबुक पेज चलाने में मदद की थी।

इससे पहले वॉल स्ट्रीट जर्नल ने भी अपनी रिपोर्ट में ऐसा ही दावा किया था। जिसमे कहा गया था कि भारत में फेसबुक की पॉलिसी डायरेक्टर अंखी दास ने बीजेपी एमएलए टी. राजा की भड़काऊ पोस्ट को हटाने का विरोध किया था। विरोध भी इसलिए, ताकि भाजपा से रिश्ते खराब न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles