जाकिर नाईक के एनजीओ का एफसीआरए (FCRA) लाइसेंस रिन्यू करने के मामले में गुरुवार को गृह मंत्रालय के 4 अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है.

इन अफसरों ने बिना जांच पड़ताल के ही जाकिर की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन को विदेशी फंडिग वाले लाइसेंस रिन्यू कर दिया. जबकि नाईक अपने कथित कट्टरपंथी विचारों के लिए सुरक्षा एजेंसियों की जांच के दायरे में है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गृह मंत्रालय ने पाया कि नाईक के खिलाफ चल रही विभिन्न जांच के बावजूद उसके एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के एफसीआरए लाइसेंस का हाल में नवीनीकरण किया गया.

गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट करते हुए इस बात की पुष्टि की है. रिजिजू ने लिखा है कि ‘हमारा साफ मानना है कि रजिस्ट्रेशन और रिन्यूअल की प्रक्रिया आसान तरीके से हो. लेकिन, जिसका केस पेंडिंग है उसकी पहले जांच की जाए.

Loading...