वर्ष 1978 में दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की परीक्षा पास करने संबंधी रजिस्टरों को सार्वजनिक करने का आदेश देने वाले सूचना आयुक्त एमएस आचार्युलु की मानव संसाधन विकास मंत्रालय से छुट्टी कर दी गई हैं. दरअसल इसी वर्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक किया था.

द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार की शाम को सीआईसी ने अपने विशेषाधिकारों का इस्तेमाल करते हुए इस बदलाव का आदेश जारी किया. इसमें कहा गया है कि एचआरडी मंत्रालय से जुड़ी सभी शिकायतें, अपील, आदि अब मंजुला पाराशर देखेंगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दिल्ली विवि को 1978 के रिकॉर्ड सार्वजनिक करने के आदेश सामने आने के दो दिन के भीतर ही आयोग में यह बदलाव हुआ है.  दरअसल नीरज नामक व्यक्ति की अपील पर अचार्युलु ने डीयू से 1978 में बीए की परीक्षा में बैठने वाले छात्रों की संख्या, उनके नाम और पिता का नाम, क्रमांक संख्या और प्राप्त अंक की जानकारी सार्वजनिक करने को कहा था. और इसी साल मोदी ने भी ‌इस विवि से बीए की परीक्षा पास की थी.

गौरतलब रहें कि पिछले साल भाजपा नेताओं ने कहा था कि मोदी ने दिल्ली विश्वविद्यालय के दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रम (distance learning) के तहत 1978 में पॉलिटिकल साइंस में बीए की पढ़ाई पूरी की थी.

Loading...