pranab-mukherjee_650x400_41452346370

पिछले 17 दिनों से संसद में चल रहे गतिरोध को लेकर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नाराजगी जाहिर की हैं. उन्होंने सांसदों से संसद में गतिरोध को खत्‍म कर संसद चलाने की अपील की. राष्‍ट्रपति ने कहा है कि संसद की कार्यवाही में बाधा किसी भी सूरत में स्‍वीकार्य नहीं है.

गुरुवार को राष्‍ट्रपति ने कहा, ‘बतौर सांसद डिबेट करना और असहमत होना आपका अधिकार है लेकिन संसद की कार्यवाही बाधित करने का आपका कोई अधिकार नहीं है. नेताओं को संसद में धरना देने के लिए नहीं चुना जाता. भगवान के लिए, अपना काम कीजिए. आपका काम संसद की कार्यवाही को चालू रखना है.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा कि मैं किसी को व्यक्तिगत रूप से आरोपित नहीं कर रहा हूं लेकिन संसद को बाधित करना अब रोज की बात हो गयी है और यह अभ्यास जैसा हो गया है. उन्होंने कहा कि संसदीय स्वतंत्रा का गलत फायदा नहीं उठाया जाना चाहिए. बहुमत को गतिरोध पैदा करने में शामिल नहीं होना चाहिए, लेकिन अभी बहुमत नारे लगाने, संसद की कार्यवाही बाधित करने और ऐसी परिस्थिति बनाने में जुटा है कि संसद ना चल पाये.

राष्ट्रपति ने कहा, “धरना किसी और जगह दिया जा सकता है.” उन्होंने सांसदों से सदन में लोक महत्व के मुद्दों पर चर्चा करने के लिए कहा. उन्होंने सांसदों से कहा, “अपना काम कीजिए.”

Loading...