भारत के स्वतंत्रता सैनानी और मशहूर यूनानी चिकित्सक हक़ीम अजमल खान के जन्मदिवस को ‘राष्ट्रीय यूनानी दिवस’ घोषित किया गया हैं. हक़ीम अजमल का जन्म 11 फ़रवरी 1868 को हुआ था.

हक़ीम अजमलका परिवार मुग़ल बादशाह बाबर के साथ हिन्दुस्तान आया था और पीड़ी दर पीड़ी मुग़ल सलतनत में अपनी चिकित्सक सेवाएं देते रहा. उनके दादा, हाकिम शरीफ खान मुगल सम्राट शाह आलम के ख़ास चिकित्सक थे. उन्होंने दिल्ली में शरीफ मंजिल के नाम से एक अस्पताल के साथ यूनानी चिकित्सा अध्यापन के लिए कॉलेज भी खोला था.

इस अस्पताल में ही हक़ीम अजमल ने अपने परिवार के सदस्यों से यूनानी चिकित्सा पद्धति की शिक्षा हासिल की. तिब्ब’-ए-यूनानी यानि यूनानी चिकित्सा के लिए उनके दादा ने शरीफ मंज़िल अस्पताल में दुनिया भर के बेहतरीन यूनानी चिकित्सकों की नियुक्ति की. यहाँ पर गरीबों का इलाज मुफ्त में किया जाता था.

सेंट्रल कॉउंसिल फॉर रिसर्च इन यूनानी मेडिसिन के डायरेक्टर जनरल वैद्या केएस ने इस बारें में बताया, ‘स्किन डिसीज़ एंड कॉस्मेटोलॉजी इन यूनानी मेडिसिन’ पर 12 और 13 फ़रवरी को दो दिवसीय सेमिनार का आयोजन होगा.  आयुष् के केंद्रीय मंत्री श्रीपाद येस्सो नाइक एवं श्रम मंत्री बी दत्तात्रेय भी शामिल होगे.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें