Friday, July 23, 2021

 

 

 

हैदराबाद निजाम फंड मामले में भारत के हक में फैसला, परिजन बोले – पाक को दिया था….

- Advertisement -
- Advertisement -

हाईकोर्ट ऑफ इंग्लैंड एंड वेल्स ने बुधवार को हैदराबाद खजाने पर एक महत्वपूर्ण फैसला देते हुए दशकों पुराने हैदराबाद निजाम की रकम पर पाकिस्तान के दावे को खारिज कर दिया है।

हाईकोर्ट ने निजाम के 30 मिलियन पाउंड पर भारत और निजाम के उत्तराधिकारियों का हक बताया है। कोर्ट पाकिस्तान के द्वारा दी गई दलीलों से सहमत नहीं हुआ। जिस वजह से कोर्ट ने भारत के पक्ष में फैसला सुनाया है।

फैसले पर निजाम के वंशज नजफ अली ने कहा, ‘हमें खुशी है कि सात वर्षों बाद फैसला आया है। यह 2008 से ही मेरा प्रयास था।’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘मैंने तत्कालीन पाकिस्तान के उच्चायुक्त (भारत में) से बात शुरू की थी। मैंने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाकात की थी। उस वक्त प्रणब मुखर्जी विदेश मंत्री थे।

उन्होने बताया, हमने इन सब लोगों से मुलाकात की और उस वक्त हम पाकिस्तान के साथ अदालत के बाहर समझौता करना चाहते थे। 2013 में पाकिस्तान की सरकार ने अदालत में याचिका दायर कर दावा किया कि यह धन उनका है।’ नजफ अली ने कहा कि प्रिंस मुकर्रम जाह वर्तमान में इंस्तांबुल में रहते हैं जबकि उनके भाई मुफ्फकम जाह लंदन में हैं।

हालांकि खबर है कि ब्रिटेन हाई कोर्ट से झटके के बाद पाकिस्तान ऊपरी अदालत का दरवाजा खटखटा सकता है। बता दें कि यह मामला आजादी के समय का है। उस समय हैदराबाद से ब्रिटेन के एक बैंक में रकम भेजी गई थी और यह रकम नेशनल वेस्टमिनिस्टर बैंक में बढ़कर 350 करोड़ रुपए हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles