Monday, October 25, 2021

 

 

 

ऐतिहासिक जामा मस्जिद के गुंबद में दरार, तत्काल रिपेयर की जरुरत

- Advertisement -
- Advertisement -

jama masjid 3

दिल्ली की ऐतिहासक जामा मस्जिद की जर्जर हालत बिगड़ती जा रही है. जिसके चलते मस्जिद को फौरन मरम्मत करने की जरुरत है.

मस्जिद में पानी का रिसाव हो रहा है. मस्जिद के गुंबद का अंदरुनी हिस्सा कई जगहों से टूट चूका है. साथ ही दीवारों का प्लास्टर भी गिरने लगा है. 361 साल की देखभाल कर रही संस्था का कहना है कि मस्जिद के गुंबद को तत्काल मरम्मत की जरुरत है.

ध्यान रहे मस्जिद के शाही इमाम सैय्यद अहमद बुखारी ने इस सबंध में पिछले साल प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर जल्द से जल्द ठीक कराने की मांग की थी. उन्होंने एएसआई को भी कई पत्र लिखे. हालांकि इन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई.

हिन्दुस्तान टाइम्स से बातचीत में इमाम बुखारी ने बताया- मैं विशेषकर प्रधानमंत्रा कार्यालय और एएसआई दोनों से यह कहा कि इसके समय-समय पर मरम्मत नहीं होने का नतीजा परमानेंट डैमेज. खासकर, मुख्य प्रार्थना चैंबर और तीन अन्य गुंबद को फौरन ठीक किए जाने की जरुरत है.

बुखारी ने बताया- मैं विशेषकर प्रधानमंत्रा कार्यालय और एएसआई दोनों से यह कहा कि इसके समय-समय पर मरम्मत नहीं होने का नतीजा परमानेंट डैमेज. खासकर, मुख्य प्रार्थना चैंबर और तीन अन्य गुंबद को फौरन ठीक किए जाने की जरुरत है.

एएसआई प्रवक्ता डीएम दिमरी ने कहा कि मस्जिद के चबूतरे और कुछ अन्य मरम्मत का काम अभी पाइप लाइन में पड़ा हुआ है. उन्होंने यह कहा कि एएसआई को गुंबर और उसके प्रार्थनस्थल के बार ऐसी किसी बड़े डैमेज को कोई जानकारी नहीं है.

मस्जिद के प्रबंधन और संरक्षण की जिम्मेदारी दिल्ली वक्फ बोर्ड के साथ है. बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा, “हमारे पास मस्जिद को बहाल करने के लिए पर्याप्त धन नहीं है और हमेशा इस परियोजना के लिए बाहरी सहायता की जरूरत है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles