शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती ने हरिद्वार में अयोध्या में राम मंदिर को लेकर आरएसएस पर हमला करते हुए कहा कि आरएसएस ने मस्जिद नहीं बल्कि हिंदुओं के मंदिर को ही गिरा दिया. क्योंकि वहां कभी मस्जिद थी ही नहीं.

उन्होंने कहा, जिस जगह को आरएसएस ने बाबरी मस्जिद बताकर तोड़ दिया वो वास्तव में कभी मस्जिद थी ही नहीं, वो तो शुरू से ही मंदिर है. उन्होंने बाबर की तारीफ़ करते हुए कहा कि जिस बाबर को मंदिर तोड़ने के लिए बदनाम किया जाता रहा है वो ऐसा इंसान था ही नहीं. उन्होंने दावा किया की मंदिरों को तोड़ने का काम औरंगज़ेब का था.

शंकराचार्य ने कहा की आरएसएस के मोहन भागवत ने कहा था की वे अयोध्या में आदर्श राम का मंदिर बनवाने की बात करती है जबकि हम भगवान् राम का मंदिर बनाएंगे. क्योंकि हिन्दू समाज वो करेगा जो हम कहेंगे. हिंदुओं के नेता शंकराचार्य होते हैं और ज्योतिष पीठ का शंकराचार्य हम हैं.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano