naidu kagc 621x414@livemint

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिए जाने से नाराज तेलगु देशम पार्टी ने एनडीए से नाता तोड़ने जा रही है. तेलगु देशम पार्टी के दोनों मंत्री आज इस्तीफा देने वाले हैं.

टीडीपी प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने बुधवार देर रात प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि केंद्र सरकार में टीडीपी के मंत्री गुरुवार सुबह मंत्री पद से अपना इस्तीफा दे देंगे. हालांकि पार्टी ने साफ किया है कि वह NDA से अलग नहीं होगी.

उधर मोदी सरकार ने आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेटस दिए जाने की मांग पर अपना रूख साफ कर दिया. वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकार आंध्र को स्पेशल स्टेट का दर्जा न देने के लिए मजबूर है. लेकिन राज्य को फंड की कमी ना हो, इसके लिए सरकार आंध्र प्रदेश को खास  पैकेज देने के लिए तैयार है. जेटली ने कहा कि तेलंगाना बनने से आंध्रप्रदेश को आर्थिक नुकसान हुआ है. लेकिन 14वें वित्त आयोग ने स्पेशल स्टेट के विचार को ही खत्म कर दिया है. लिहाजा अब इस आधार पर आंध्र को स्पेशल स्टेटस का दर्जा नहीं दिया जा सकता है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

साथ ही नायडू ने प्रधानमंत्री द्वारा फोन पर बात नहीं किये जाने को लेकर भी नाराजगी जाहिर की. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने फैसले से अवगत कराना चाहता था. उनसे संपर्क करने की कोशिश की. मगर वे उपलब्ध नहीं रहे.” एक ट्वीट में जहां उन्होंने कहा-मैं किसी से नाराज नहीं हूं. यह फैसला आंध्र प्रदेश की जनता की भलाई के लिए लिया गया है.

बता दें कि नायडू की पार्टी टीडीपी के कुल 16 सांसद हैं. यह एनडीए सरकार में संख्याबल के लिहाज से तीसरी बड़ी पार्टी है. मोदी कैबिनेट में टीडीपी से दो मंत्री शामिल हैं. एक अशोक गजपति राजू और दूसरे वाईएस चौधरी.