मुंबई | करीब 10 साल की मसक्कत के बाद पुरे देश में 1 जुलाई से GST लागु हो जायेगा. वित्त मंत्री और प्रधानमंत्री ने इसे क्रांतिकारी कदम बताते हुए कहा था की यह बिल देश के विकास में मिल का पत्थर साबित होगा. हालांकि अभी तक GST की टैक्स दरे निर्धारित नही हुई है लेकिन जानकारों के अनुसार यह चार श्रेणी 5,12,18 और 28 फीसदी में बांटा जा सकता है.

लेकिन बुधवार सुबह से ट्वीटर पर GST दरे और सैनिटरी नैपकिन चर्चो के केंद्र में चल रहे है. दरअसल वित्त मंत्रालय ने सैनिटरी नैपकिन को लग्जरी प्रोडक्ट मानते हुए इसे ऊँचे टैक्स दरो में जगह दी है. जिसकी वजह से इसके दाम बढ़ने की पूरी उम्मीद जतायी जा रही है. जैसे ही यह खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई वैसे ही काफी महिलाए सेलेब्रिटी इसके विरोध में खडी हो गयी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बॉलीवुड अभिनेत्री अदिति राव हैदरी ने सबसे पहले इसकी शुरुआत करते हुए ट्वीट किया,’अरुण जेटली जी, सैनिटरी नैपकीन हमारी जरूरत है, लग्जरी नहीं. कृपया इन्हें जीएसटी से बाहर कर दीजिए, ताकि और ज्यादा महिलाएं इनका इस्तेमाल कर सकें.’ अदिति ने अपने इस ट्वीट में हैश टैग #लहूकालगान का इस्तेमाल किया जिसके बाद यह ट्वीटर पर ट्रेंड करने लगा.

अदिति के बाद स्वरा भास्कर ने भी उनके सुर में सुर मिलते हुए ट्वीट किया,’मैं अदिति राव हैदरी से पूरी तरह सहमत हूं. सरकार को सैनिटरी नैपकीन पर किसी तरह का टैक्स नहीं लगाना चाहिए, क्योंकि यह हमारी जरूरत है, किसी तरह की विलासिता नहीं. स्वरा के बाद बैडमिंटन प्लयेर ज्वाला गुट्टा और बॉलीवुड अभिनेत्री लिजा रे ने भी इसके खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की.

ज्वाला गुट्टा ने लिखा,’ मिस्टर अरुण जेटली यह बेहद आश्चर्यजनक है. मुझे कभी भी नहीं पता था कि सैनिटरी नैपकीन का इस्तेमाल करना लग्जरी है. मैं हैरान हूं.  इसलिए मैं आपसे रिकवेस्ट करती हूं कि सैनिटरी नैपकीन पर टैक्स ना लगाया जाए, ताकि यह हमारे देश की महिलाओं के लिए उपलब्ध हो सके. #लहूकालगान को ना कहिए.

Loading...