वहाबी स्कॉलर जाकिर नाईक के खिलाफ एनआईए की मांग पर इंटरपोल की और से जारी नोटिस के जवाब में जाकिर नाईक ने कहा कि उसे मुस्लिम होने की वजह से भारत में जांच एजेंसी निशाना बना रही है.

नाइक ने इंटरपोल को अपने जवाब में कहा कि भारतीय जांच एजेंसी उन्हें केवल इसलिए निशाना बना रही हैं क्योंकि वह मुस्लिम है. उन्होंने दावा किया कि उनके भाषण जिहाद को बढ़ावा देने वाले नहीं हैं. उनके भाषण केवल शांति के लिए हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हाल ही में मुम्बई की एक विशेष अदालत ने जाकिर नाईक को भगोड़ा घोषित कर उसकी संपति को कुर्क करने का आदेश दिया था. जिसके चलते एनआईए ने एनआईए ने 11 मई को इंटरपोल और सीबीआई को पत्र लिखकर रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के लिए कहा था.

अगर नाईक के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी हो जाता है तो वह एक अंतरराष्ट्रीय भगोड़ा करार दे दिया.जाएगा और उसे दुनिया भर में किसी भी एजेंसी द्वारा गिरफ्तार किया जा सकता है.

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक नाइक संयुक्त अरब अमीरात या सऊदी अरब और मलेशिया या इंडोनेशिया में है. नाइक को सऊदी अरब ने पहले ही नागरिकता प्रदान कर दी है.

Loading...