tannn1

धार्मिक उत्पीड़न को लेकर चर्चा मे आए हिन्दू-मुस्लिम कपल अनस और तन्वी सेठके पासपोर्ट को क्लीयरेंस मिल गया है। यानि कि उनके खिलाफ हो रही विभागीय जांच खत्म हो गई। जिसके बाद वे अब बिना किसी रोकटोक के किसी भी विदेश यात्रा पर जा सकते हैं।

लखनऊ के रीजनलपासपोर्ट ऑफिस ने यह फैसला लिया है। बता दें कि 20 जून को लखनऊ के पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्रा पर पासपोर्ट आवेदन करने वाली तन्‍वी सेठ ने बदसुलूकी और उनके पति अनस ने धार्मिक भेदभाव का आरोप लगाया था। पासपोर्ट अधिकारी ने उनकी शादी को लेकर निजी कमेंट किया था।

मिश्रा ने अन्नस को पासपोर्ट रिन्यू कराने के बदले धर्मपरिवर्तन कर हिन्दू धर्म अपनाने को कहा था। इतना ही नहीं तनवी से सभी दस्तावेजों में अपना नाम बदलने का निर्देश दिया था। जब दोनों ने मना कर दिया तो विकास ने उनको अपमानित किया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

passport 620x400

इस मामले कि शिकायत उन्होने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पीएमओ से ट्वीट के जरिए कि थी। मामला सुर्खियों में आया तो दोनों को अगले दिन हीं बाई हैंड पासपोर्ट दे दिए गए थे। साथ ही पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्रा का तबादला गोरखपुर कर दिया गया था।

रीजनल पासपोर्ट अफसर, पीयूष वर्मा ने कहा, ‘पुलिस रिपोर्ट का रिव्यू किया जा रहा है। तन्वी और अनस को नोटिस नहीं दिया गया है। पासपोर्ट नियमों के अनुसार ही कार्रवाई की जाएगी।’