जूलरी ब्रांड ‘तनिष्क’ को अपने विज्ञापन में हिंदू-मुस्लिम भाईचारा दिखाने की सज़ा भुगतनी पड़ रही है। दरअसल गुजरात के कच्छ जिले के गांधीनगर शहर में तनिष्क के स्टोर को निशाना बनाया गया है। साथ ही स्टोर के मेनेजर से जबरन माफीनामा लिखावने की भी खबर है।

गुजराती भाषा में हाथ से लिखे गए माफीनामे में कहा गया कि तनिष्क के शर्मनाक विज्ञापन के लिए हम कच्छ के हिंदू समुदाय के लोगों से माफी मांगते हैं। पुलिस ने बताया कि माफीनामा शोरूम के दरवाजे पर 12 अक्टूबर को चिपकाया गया था। अब इसे हटा लिया गया है।

स्टोर पर हमले को लेकर कच्छ-पूर्व के पुलिस अधीक्षक मयूर पाटिल ने कहा कि ऐसा कोई हमला नहीं हुआ। बता दें कि तनिष्क ने अपने आभूषण के विज्ञापन में दिखाया था कि एक मुस्लिम परिवार अपनी बहू की गोद भराई की तैयारियां कर रहा है, बहू हिंदू है। इस विज्ञापन को ले कर काफी विवाद हुआ जिसे देखते हुए कंपनी ने विज्ञापन वापस ले लिया।

मंगलवार को तनिष्क ने एक बयान जारी कर कहा अनजाने में भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए दुखी हैं और यह वीडियो को वापस ले रहे हैं। बयान में कहा गया है, “हम भावनाओं के अनजाने सरगर्मी से घबरा गए हैं और अपने कर्मचारियों, साझेदारों और स्टोर कर्मचारियों की आहत भावनाओं को ध्यान में रखते हुए इस फिल्म को वापस ले रहे हैं।”

वहीं प्रबंधक राहुल मनुजा ने एएनआई को बताया, “स्टोर पर हमला नहीं किया गया है। हालांकि, मुझे कुछ धमकी कॉल मिली। पुलिस ने हमारा समर्थन किया है।” बता दें कि तनिष्क के विज्ञापन को लेकर मशहूर लेखक चेतन भगत ने विरोध करने वालों पर तंज कसा था कि उनमें से ज्यादातर लोगों में तनिष्क की जूलरी खरीदने की कूवत ही नहीं है।

चेतन भगत ने तनिष्क से विरोध की परवाह न करने की अपील करते हुए ट्वीट किया, ‘डियर तनिष्क, आप पर हमला करने वाले ज्यादातर लोग आपको किसी भी तरह अफोर्ड नहीं कर सकते हैं। और उनकी यह सोच इकॉनमी को ऐसी जगह पर पहुंचा देगी कि जल्द ही उनके पास नौकरियां नहीं होंगी और इस तरह वे भविष्य में भी तनिष्क से कुछ भी खरीदने के काबिल नहीं रहेंगे। उनके बारे में फिक्र मत करो।’

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano