Thursday, August 5, 2021

 

 

 

तबरेज अंसारी की पत्नी ने की सीएम हेमंत सोरेन से मुलाकात, मांगा – न्याय और सरकारी नौकरी

- Advertisement -
- Advertisement -

झारखंड के जमशेदपुर में मॉब लिंचिंग के शिकार तबरेज अंसारी की पत्नी शाइस्ता परवीन ने बुधवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ मुलाकात की। इस दौरान उन्होने हेमंत सरकार से उसे सरकारी नौकरी देने और केस लड़ने के लिए आर्थिक मदद करने की अपील की। उन्होने आरोपियों को गिरफ्तार करने और मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराए जाने की मांग रखी।

शाइस्ता ने बताया कि मैं मंगलवार को हताश हो कर आत्महत्या करने जा रही थी। लेकिन कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने मुझे बचा लिया और आज मुख्यमंत्री से मुलाकात करवाई। उन्होंने मांग की कि सरकार आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई करे। शाइस्ता परवीन ने कहा कि उसकी शादी को मात्र 54 दिन हुए थे। भीड़ ने उसके पति को पीट-पीटकर मार डाला। अब उसके पास दर-दर भटकने के अलावा कोई और चारा नहीं है। अभी तक उसे न्याय नहीं मिला है।

वहीं शाइस्ता के साथ मौजूद जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी ने कहा कि तबरेज अंसारी को भाजपा के कार्यकर्ताओं ने ही मारा है। उसको चोर बता कर तब तक पीटा गया जब तक उसकी मौत नहीं हो गयी।  इरफान अंसारी ने कहा कि तबरेज अंसारी की पत्नी को सदन लाने का मकसद, उन्हें न्याय दिलाना है। शाइस्ता आर्थिक तंगी से गुजर रही है. उसे जीवन-यापन में परेशानी हो रही है। केस लड़ने के लिए रुपए नहीं हैं।

बता दें कि 17 जून की रात धातकीडीह गांव में चोरी का आरोप लगाकर तबरेज अंसारी को भगवा गुंडों ने रातभर पीटा। 18 जून को खरसावां पुलिस गांव पहुंची और तबरेज को सदर अस्पताल में भर्ती कराया। वहां चिकित्सकों ने स्वस्थ होने का हवाला देकर तबरेज को पुलिस को सौंप दिया। फिर पुलिस ने उसे जेल भेज दिया। 22 जून को उसकी तबीयत बिगड़ी तो जेल पुलिस ने सदर अस्पताल भेज दिया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles