झारखंड के सरायकेला के चर्चित तबरेज अंसारी की मॉब लिचिंग मामले में झारखंड सरकार ने दाे डाॅक्टराें पर विभागीय कार्रवाई के आदेश जारी किए है। स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने सरायकेला के सदर अस्पताल के डॉ. शाहिद अनवर और डॉ. ओम प्रकाश केशरी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई चलाने की सहमति दी है।

बता दें कि तबरेज अंसारी को चोरी के आरोप में भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। हालांकि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बेरहमी से पीटे गए तबरेज अंसारी की मौत ब्रेन हैमरेज से बताई गई थी। वहीं, तबरेज अंसारी का वीडियो भी वायरल हुआ था। वीडियो से यह खुलासा हुआ था कि तबरेज को जय श्री राम और जय हनुमान बोलने के लिए मजबूर किया गया था।

आरोप है कि 18 जून की सुबह व शाम को दो बार डॉक्टर ने तबरेज के शरीर की जांच की, लेकिन उन्होंने उसे गंभीरता से नहीं लिया। सुबह में दूसरे डॉक्टर के द्वारा जांच की गई, जिसमें केवल एक एक्स रे कराया गया। जबकि उसके शरीर की पूरी जांच होनी चाहिए थी।

डॉक्टर ने जांच रिपोर्ट में इंज्यूरी या अन्य स्वास्थ्य संबधी सूचना तक नहीं लिखी। वहीं, शाम को जब दूसरे डॉक्टर ने जांच की तो सुबह वाले डॉक्टर के एक्सरे रिपोर्ट को ही आधार मान लिया। जबकि उन्हें शरीर की पूरी जांच करके पीड़ित को अस्पताल में भर्ती कराना चाहिए था, जो नहीं किया गया।

जिला प्रशासन की जांच रिपोर्ट के आधार पर ड्यूटी पर तैनात दोनों डॉक्टरों के ख़िलाफ लापरवाही के आधार पर कार्रवाई की जा रही है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano