Wednesday, October 20, 2021

 

 

 

योगी सरकार का बड़ा फैसला, मदरसों में पढाई जायेगी NCERT की किताबे

- Advertisement -
- Advertisement -

madarsa ncert syllabus 1509353921

लखनऊ | उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार आने के बाद से मदरसों पर काफी ध्यान दिया जा रहा है. सरकार बनने के छह महीने के अन्तराल में ही योगी सरकार की तरफ से मदरसों को लेकर कई नोटिफिकेशन जारी किये जा चुके है. जिनमे से कई नोटिफिकेशन को लेकर विवाद भी हुए है. लेकिन योगी सरकार सभी विवादों से बेखबर लगातार मदरसों को लेकर नए नए फैसले ले रही है.

अपने ताजा फैसले में योगी सरकार ने मदरसों के सिलेबस में तबदीली करने का फैसला किया है. इसके लिए मजहबी किताबो के साथ साथ कुछ अन्य विषयो की किताबों को मदरसों के सिलेबस में शामिल करने का फैसला किया गया है. उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. उन्होंने बताया की कैबिनेट ने मदरसों के सिलेबस में NCERT की किताबे शामिल करने की मंजूरी दे दी है.

उल्लेखनीय है की उत्तर प्रदेश में तहतानियां (कक्षा 1 से 5), फौकानियां (कक्षा 5 से 8 ), आलिया और उच्च आलिया (हाई स्कूल व उससे ऊपर) स्तर के कुल 19,143 मदरसे, मदरसा बोर्ड में रजिस्टर्ड हैं. इनमे से तहतानियां और फौकानियां स्तर पर ही गणित, हिंदी और अंग्रेजी और अन्य विषय शामिल है. लेकिन सरकार के फैसले के बाद अलिया और उच्च अलिया स्तर पर भी गणित और विज्ञान जैसे विषय पाठ्यक्रम में शामिल हो जायेंगे.

योगी सरकार ने मदरसों में मजहबी किताबो के साथ आधुनिक विषयों की पढाई के लिए यह फैसला लिया है. इसके लिए NCERT की किताबे का प्रयोग किया जाएगा. सरकार का कहना है की मदरसों को आधुनिक शिक्षा की और अग्रसर करने के लिए यह फैसला लिया गया. बताया जा रहा है की नये पाठ्यक्रम में हिंदी और अंग्रेजी को छोड़कर बाकी सभी विषयों की किताबें उर्दू भाषा में होंगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles