अपहरण के मामले में फरार चल रहे दक्षिण भारत के स्वयंभू बाबा नित्यानंद ने दक्षिण अमेरिकी महाद्वीप में त्रिनिदाद और टोबैगो के पास इक्वाडोर के पास एक द्वीप पर अपना नया देश बसा लिया है। इस आईलैंड को नित्यानंद ने हिन्दू राष्ट्र घोषित भी कर दिया है।उसने देश का नाम कैलासा रखा है।

ऐसी भी जानकारी मिली है कि नित्यानंद ने नए देश की वेबसाइट भी बनाई है। उसकी वेबसाइट पर दावा किया गया है- कैलासा बिना सीमाओं का देश है, जिसे दुनियाभर से बेदखल हिंदुओं ने बसाया है।

कर्नाटक में दर्ज दुष्कर्म के एक मामले में नित्यानंद वांछित है। गुजरात के आश्रम में लड़कियाें के शाेषण की खबराें और बच्चाें काे बंधक बनाकर रखने के मामले में भी पुलिस उसे तलाश रही है। बताया जाता है कि वह नेपाल के रास्ते त्रिनिदाद भागा था।

इसके अलावा नित्यानंद के खिलाफ गुजरात में फौजदारी मामला भी दर्ज है। मामले में उसके खिलाफ सबूत जुटाने के लिए पुलिस ने उसकी दो महिला अनुयायियों को भी गिरफ्तार किया है।

nitya

अहमदाबाद (ग्रामीण) के पुलिस अधीक्षक एसवी असारी ने बताया कि नित्यानंद कर्नाटक में उसके खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज होने के बाद ही देश छोड़कर भाग गया था। गुजरात पुलिस उचित माध्यम के जरिए उसकी हिरासत हासिल करेगी। पुलिस ने उसकी दो महिला अनुयायियों- साध्वी प्राण प्रियानंद और प्रियातत्व रिद्धि किरण को भी गिरफ्तार किया था। दोनों पर चार बच्चों को कथित तौर पर अगवा करने और उन्हें एक फ्लैट में बंधक बनाकर रखने का आरोप है।

पुलिस नित्यानंद के आश्रम से लापता हुई एक महिला के मामले में भी जांच कर रही है। महिला के पिता जनार्दन शर्मा ने शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने 20 नवंबर को स्वयंभू बाबा स्वामी नित्यानंद के खिलाफ मामला दर्ज किया था। नित्यानंद पर अहमदाबाद में अपना आश्रम योगिनी सर्वज्ञपीठम चलाने के लिए बच्चों को कथित तौर पर अगवा करने और उन्हें बंधक बनाकर अनुयायियों से चंदा जुटाने के आरोप हैं।

Loading...
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano
विज्ञापन