अजमेर दरगाह बम ब्लास्ट केस के बाद अब स्वामी असीमानंद को एक और राहत मिली हैं. स्वामी असीमानंद को मक्का मस्जिद बम धमाकों के मामलें में जमानत मिल गई हैं.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार असीमानंद को गुरुवार (23 मार्च) को कोर्ट ने जमानत देने का आदेश दिया. उन्‍हें औपचारिकताएं पूरी होने के बाद जेल से रिहा कर दिया जाएगा. कोर्ट ने असीमानंद को 50 हजार रुपये के दो मुचलके भरने को कहा है. साथ ही हैदराबाद से बाहर ना जाने का आदेश भी दिया है. उनके साथ ही एक अन्‍य संदिग्‍ध भारत भार्इ को भी जमानत दी गई है.

18 मई 2007 को हुए मक्का मस्जिद बलास्ट मामलें में असीमानंद पर आरोप है कि मस्जिद के बाहर उन्होंने विस्फोटक साम्रगी रखी थी. इस ब्लास्ट में 16 लोगों की मौत हुई थी. मक्‍का मस्जिद मामले की जांच कर रही सीबीआई ने असीमानंद को नवंबर 2010 में गिरफ्तार किया था. इसके बाद इस मामले को राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दिया गया था। एनआईए की ओर से मई 2011 में चार्जशीट दायर की गई थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

असीमानंद पर अजमेर ब्लास्ट का भी आरोप लगा था. इस मामले में वे मुख्य आरोपी थे लेकिन सबूतों के अभाव में कोर्ट ने उन्हें हाल ही में बरी कर दिया. इसके अलावा वे समझौता एक्‍सप्रेस और मालेगांव धमाकों में वह अभी भी सह आरोपी हैं.

Loading...