देश से रोहिंग्या मुस्लिमों को निकाले जाने के खिलाफ अपना स्वामी अग्निवेश ने 2 अक्टूबर यानि गांधी जयंती से व्रत रखने का फैसला किया है.

अग्निवेश ने कहा कि वे केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ 2 अक्टूबर को रोहिंग्या मुसलमानों के पक्ष में अनशन करने जा रहे है. उन्होंने बताया कि इस दौरान उनके समर्थक पूरे देश में रोहिंग्या मुसलमानों के पक्ष में अहिंसात्मक आंदोलन करेगे और गांधी जयंती को उपवास रखेंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हिन्दुस्तान की ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की परंपरा है कि इंसानियत का फ़राइज़ अदा करते हुए लोगों को सुरक्षा देते हुए पनाह दी जाती रही है.

उन्होंने कहा कि जिस तरह से हिंदुस्तान ने बांग्लादेशी, तिब्बती और अफगानिस्तान के शरणार्थियों को दिया है, उसी तरह रोहिंग्या मुसलमानों को भी देश में पनाह दी जानी चाहिए. उन्होंने केंद्रीय ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह के जरिए रोहिंग्या मुस्लिम को आतंकवाद बताने पर निंदा की है.

इस दौरान उन्होंने पाखंडी बाबाओं की आलोचना करते हुए कहा कि ऐसे बाबाओं की वजह से लोकतंत्र कमजोर हो रहा है और ऐसे पाखंडी बाबाओं की सम्पति की जांच होनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि पांखडी बाबाओं की अंधी भक्ति के कारण देश को खतरा है. ऐसे बाबाओं की वजह से लोकतंत्र कमजोर हो रहा है. उन्होंने आरोप लगाया कि ढोंगी बाबाओं से ​मेल-मिलाप कर राजनीतिक पार्टियां वोट बैंक बना रहीं है.

Loading...