agni

agni

दुनिया भर में इस्लाम धर्म सबसे बड़ी ताकत रहा है, कई सदियों तक दुनिया के बड़े भू-भाग पर हुकुमत करने के बावजूद आज मुसलमान सबसे कमजोर पड़ता हुआ दिख रहा है. जिसकी सबसे बड़ी वजह मुसलमानों में फिरकाबंदी का होना है.

इस सबंध में दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में आयोजित इंस्टिट्यूट ऑफ ऑब्जेक्टिव स्टडीज के अधिवेशन में आर्य समाज के धर्मगुरु और पूर्व मंत्री स्वामी अग्निवेश ने कहा कि मस्जिद में एक होने वाला मुसलमान, मस्जिद के बाहर आते ही फिरकाबंदी में उलझ जाता है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

स्वामी अग्निवेश ने कहा कि इस्लाम के साथ-साथ सभी धर्मों ने अमन का पैगाम दिया है तो फिर देश में इस तरह की वारदात क्यों हो रहे हैं, इस पर आत्ममंथन करने की जरूरत है. बौद्ध के धर्मगुरु डॉक्टर राहुल दास ने तमाम धर्मों की खूबियों की चर्चा करते हुए कहां की कुछ सियासी लोग अपने स्वार्थ के लिए धर्म को बदनाम कर रहे हैं. हम सब मिलकर यह संकल्प करें के धर्म का कोई भी राजनीतिक पार्टी गलत इस्तेमाल ना करें.

इस अधिवेशन में डॉक्टर लोकेशन मणी ने तमाम धर्मों के एकता पर जोड़ दिया. डॉक्टर अब्दुल्ला, बाबा बलजीत सिंह और डॉक्टर यासिन अली उस्मानी ने भी विभिन्न धर्मों के गंगा जमुनी तहजीब की चर्चा की. गौरतलब है कि अधिवेशन का आज दूसरा दिन था जिसमें विभिन्न सभागार में 10 सत्र का आयोजन हुआ.

इसमें अमेरिका, श्रीलंका, बांग्लादेश, तर्की, सऊदी अरब, कतर, साउथ अफ्रीका समेत लेबनान के शोधकर्ताओं ने अपने-अपने पर्चा प्रस्तुत किया. कल अधिवेशन का आखिरी दिन है इसमें 6 सत्र का आयोजन किया जाएगा और शाम 5:00 बजे समापन समारोह होगा.

Loading...