बीजेपी की टोपी पहनने से मना करने वाली मुस्लिम छात्रा को कॉलेज ने किया सस्पेंड

उत्तर प्रदेश के मेरठ में बीजेपी टोपी पहनने से मना करने पर उत्पीड़न झेलने वाली मुस्लिम छात्रा को अब कॉलेज ने सस्पेंड कर दिया है। बता दें कि टोपी पहनने से इंकार करने के बाद आरोपी छात्रों ने शराब के नशे में पीड़िता के साथ छेड़छाड़ की थी।

इस घटना के बाद चौंकाने वाली बात सामने आई है। अब कॉलेज प्रशासन ने छात्रा को ही स्कूल से सस्पेंड कर दिया है।कॉलेज प्रशासन का कहना है कि छात्रा को शिकायत सेल के सामने आकर अपने बयान दर्ज कराने को कहा गया था लेकिन वह नहीं आई इसलिए उसके खिलाफ कार्रवाई की गई है।

वहीं पीड़िता ने मेरठ एसएसपी को पत्र लिखकर घटना की जानकारी दी है। छात्रा का यह भी आरोप है कि उसके ऊपर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। दरअसल, छात्रा पर कार्रवाई से कुछ घंटे हले बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कुछ कार्यकर्ता कॉलेज प्रशासन से आकर मिले थे। उन्होंने कॉलेज से निकाले गए दोनों आरोपी छात्रों का निष्कासन वापस लेने की मांग की थी।

https://twitter.com/UmamKhanam/status/1113314372024197120

बजरंग दल वेस्ट के यूपी कन्वीनर बलराज डूंगर ने कहा, ‘जब कॉलेज ट्रिप के दौरान मौजूद छात्रों का कहना है कि छात्रा ट्विटर पर झूठ बोल रही थी फिर छात्रों को क्यों निकाला गया जबकि अभी जांच चल रही है। हम चाहते हैं कि छात्रों का निष्कासन वापस लिया जाए।’ वहीं कॉलेज के निदेशक एसएम शर्मा ने कहा, ‘छात्रा ने 3 अप्रैल को अपनी शिकायत दर्ज कराई थी। उसके बाद उसे शिकायत सेल की ओर से बयान दर्ज कराने के लिए कई बार बुलाया गया। लेकिन वह नहीं आई। हम लोगों ने छात्रा पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उसे सस्पेंड किया है। इसके अलावा जब से हम लोगों ने आरोपी दो छात्रों को निष्कासित किया है हमारे ऊपर बहुत दबाव पड़ रहा है।’

पुलिस को दी गई शिकायत में छात्रा ने लिखा है, ‘मैंने अपनी बात कहने के लिए ट्विटर का प्रयोग किया था लेकिन कॉलेज वालों, छात्रों और दूसरे लोगों ने इसे राजनीतिक और सांप्रदायिक रंग दे दिया। वे लोग मेरी व्यक्तिगत फोटो और विडियो भी षणयंत्र के लिए प्रयोग कर रहे हैं। मेरे ऊपर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है।’

घटना का जिक्र करते हुए पीड़िता ने 3 अप्रैल को ट्वीट किया, ‘2 अप्रैल को मैं कॉलेज ट्रिप पर आगरा गई थी। मैं 55 छात्रों में एकमात्र मुस्लिम छात्रा थी। हमारे साथ 4 फैकल्टी मेंबर भी थे, जिसमें 2 पुरुष थे….शराब पीने के बाद छात्रों ने घटिया हरकतें शुरू कर दी और उन्होंने मुझे टारगेट बनाया।’ उसने ट्विटर पर लिखा, ‘वह कुछ सामान लेकर आए थे जैसे बीजेपी की टोपियां वगैरह और उन्होंने मुझे इससे पहनने के लिए दबाव बनाया जब मैंने इनकार कर दिया तो उन्होंने मुझसे बदतमीजी शुरू कर दी… उन्होंने गलत तरीके से मुझे छूना शुरू किया और यह सब कुछ बस में घटित हो रहा था जिसमें दो पुरुष फैकल्टी सदस्य भी मौजूद थे, लेकिन उन्होंने यह सब इग्नोर किया।’

विज्ञापन