सिख ड्राईवर से मारपीट के मामले में 3 पुलिसवाले सस्पेंड, आप ने बीजेपी पर बोला हम’ला

5:27 pm Published by:-Hindi News

दिल्ली के मुखर्जी नगर इलाके में रविवार रात पुलिस द्वारा बुजुर्ग सिख ऑटो ड्राईवर से मारपीट के मामले में 3 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। मामले में एएसआई संजय मलिक, एएसआई देवेंदर, कांस्टेबल पुष्‍पेन्‍द्र को तत्‍काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घटना की निंदा की। उन्होंने आरोपी पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की। पीड़ित ऑटो ड्राइवर से मुलाकत के बाद उन्होंने कहा, मुखर्जी नगर में दिल्ली पुलिस द्वारा की गई बर्बरता बेहद निंदनीय और अन्यायपूर्ण है। मैं मांग करता हूं कि इस मामले की निष्पक्ष जांच हो और आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो। नागरिकों की सुरक्षा करने वालों को हिंसक भीड़ में तब्दील होने की अनुमति नहीं दी जा सकती। उन्होंने कहा कि मैं एलजी साहब, गृहमंत्री साहब और दिल्ली पुलिस से कड़ी कार्रवाई की मांग करता हूं।

वहीं उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर बीजेपी पर निशाना साधा। उन्होने लिखा, जहाँ तक मुझे याद है दिल्ली में बीजेपी के सात सांसद चुने गए थे.. उनका कुछ अता-पता है? उनकी पार्टी की पुलिस आम आदमी को सड़क पर घसीट रही है.. कोई सांसद कुछ करेगा या सब अगले चुनाव तक कमेंट्री करके पैसा कमाने में बिजी हैं?

घटना को लेकर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी पूरे मामले पर नाराजगी जताई है। उन्होंने इस बाबत ट्वीट किया है- ‘दिल्ली पुलिस ने सरबजीत और बलवंत सिंह की बर्बरतापूर्वक पिटाई कर शर्मनाक कृत्य किया है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से गुजारिश है कि इस मामले में उचित कार्रवाई कर पीड़ितों को न्याय दिलाएं।’

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता जितेंद्र कोचर ने कहा है कि मुखर्जी नगर थाने के बाहर हमारे एक भाई को जिस बेरहमी से दिल्ली पुलिस ने मारा है उनकी पिटाई की गई है, उसकी पूरी जांच होनी चाहिए खाली दोषी अफसरों को निलंबित करने से काम नहीं चलेगा, उन लोगों को नौकरी से भी बर्खास्त भी किया जाना चाहिए। ऐसी गैर जिम्मेदाराना हरकत करने वालों को कभी माफ नहीं किया जाना चाहिए।

बता दें कि मुखर्जी नगर इलाके का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें कई पुलिसवाले कुछ लोगों के साथ मारपीट करते नजर आ रहे हैं। यह वीडियो रविवार शाम का है। जहां ग्रामीण सेवा का वाहन पुलिस की गाड़ी से टकरा गया था, जिसके बाद टैम्पो के ड्राइवर ने तलवार (कृपाण) निकालकर पुलिसवाले पर हमला कर दिया। हालात बिगड़ने के बाद पुलिस को सख्त रुख अख्तियार करना पड़ा लेकिन इस दौरान टैम्पो ड्राइवर भी उग्र हो गया। पिता टैम्पो ड्राईवर को पिटता देख, बेटे ने भी पुलिसवालों पर ही टैम्पो चढ़ाने की कोशिश की।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें