अयोध्या। शिव सेना और विहिप के आयोजनों को देखते हुए अयोध्या मामले के मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी के आवास की सुरक्षा बढ़ा दी गई। मुख्य मार्ग से आवास की तरफ जाने वाली सड़क को दोनों तरफ से बैरियर लगाकर सील कर दिया गया। दोनों तरफ आरएफ के जवान भी तैनात कर दिए गए हैं और सिविल पुलिस भी तैनात है। अयोध्या में भारी भीड़ की मौजूदगी को देखते हुए प्रशासन ने ऐसा फैसला लिया।

सरकार की ओर से किए गए सुरक्षा प्रबंधों पर संतोष जाहिर करते हुए राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले में पक्षकार इकबाल अंसारी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की है। अंसारी ने आगे कहा कि अगर किसी को मंदिर-मस्जिद के मुद्दे पर कोई बात कहनी है तो उसे दिल्ली या लखनऊ जाना चाहिए।

उन्होंने निषेधाज्ञा लागू होने के बावजूद धर्मसभा के नाम पर भीड़ जमा करने की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि अयोध्या के लोगों को सुकून से रहने देना चाहिए और इन लोगों को विधान भवन या संसद का घेराव करना चाहिए। अयोध्या में सुरक्षा बंदोबस्त के लिए योगी की तारीफ करते हुए अंसारी ने कहा कि सुरक्षा के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से वह संतुष्ट हैं।

अयोध्या में शांति सुनिश्चित करने के लिए एक अपर पुलिस महानिदेशक, एक पुलिस उप महानिरीक्षक, तीन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, दस अपर पुलिस अधीक्षक, 21 पुलिस उपाधीक्षक, 160 इंस्पेक्टर, 700 कांस्टेबल, 42 कंपनी पीएसी, पांच कंपनी आरएएफ, एटीएस कमांडो और ड्रोन तैनात किए  गए हैं।

किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए 70 हजार सुरक्षा कर्मी पूरी तरह से मुस्तैद हैं। चप्पे-चप्पे की निगरानी पूरी मुस्तैदी से की जा रही है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन