Friday, October 22, 2021

 

 

 

‘पद्मावती’ विवाद में भाजपा नेता का इस्तीफ़ा, मनोहरलाल खट्टर को सुनाई खरी खोटी

- Advertisement -
- Advertisement -

suraj pal amu 650x400 41511169181

चंडीगढ़ । फ़िल्म ‘पद्मावती’ का विरोध कर रहे भाजपा नेता सूरजपाल अम्मू ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है। वो हरियाणा में भाजपा के चीफ़ मीडिया कोऑर्डिनेटर थे। अम्मू ने इस्तीफ़े के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को ज़िम्मेदार ठहराया। यही नही उन्होंने खट्टर को ख़ूब खरी खोटी सुनाते हुए कहा की मैंने आज तक इतना घमंडी भाजपा मुख्यमंत्री नही देखा।

बताते चले की फ़िल्म ‘पद्मावती’ के विरोध में सूरजपाल अम्मू ने संजय लीला भंसाली और दीपिका पादुकोण का सर काटने वाले को दस करोड़ रुपए देने का एलान किया था। हालाँकि भाजपा ने इसके लिए अम्मू का नोटिस भी थमाया था। उनके इस्तीफ़े को इसी नोटिस के साथ जोड़कर देखा जा रहा है। बुधवार को उन्होंने मीडिया से रूबरू होते हुए अपने इस्तीफ़ा की घोषणा की। इस दौरान उन्होंने एनसी नेता और सांसद फ़ारूख अब्दुल्ला को भी ललकारा।

अम्मू ने कहा,’ सुबह सपना आया था और कुछ लोग शहादत मांग रहे थे। मैंने भारी मन से इस्तीफ़ा दिया है। मैं हरियाणा के सीएम के व्यवहार से दुखी हूं। मैंने इतना घमंडी बीजेपी सीएम कभी नहीं देखा है, जिसे अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं और समुदाय के प्रतिनिधियों की परवाह भी नहीं है।’ अम्मू ने इस बारे में अपने इस्तीफ़े में भी लिखा है। उन्होंने लिखा,’ मुख्यमंत्री के इर्दगिर्द कुछ अवांछित लोगों का एक समूह है जो उन्हें बीजेपी के निष्ठावान कार्यकर्ताओं से पिछले तीन सालों से दूर कर रहा है।’

हालाँकि उन्होंने साधारण भाजपा कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहने की बात कही। अपने आगे के क़दम का ख़ुलासा करते हुए उन्होंने बताया की वो 9 तारीख़ को पंचकुला में एक रैली कर रहे है। इस रैली में हम फ़िल्म पर प्रतिबंध लगाने की माँग करेंगे। इस दौरान अम्मू ने फ़ारूख अब्दुल्ला को ललकारते हुए कहा की मेरा सपना है की मैं फ़ारूख अब्दुल्ला को लाल चौक पर थप्पड़ मारू। मैं उन्हें वहाँ मिलने की चुनौती देता हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles