आरे में पेड़ों की कटाई का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, स्वत: लिया संज्ञान

11:25 am Published by:-Hindi News

मुंबई के आरे कॉलोनी में मेट्रो शेड के निर्माण के लिए पेड़ काटे जाने का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। सोमवार को कोर्ट में सुनवाई सुबह 10 बजे के करीब होगी।

एएनआई के मुताबिक़, छात्रों की ओर से चीफ़ जस्टिस को लिखे गए एक पत्र के बाद य​​ह फ़ैसला आया है। छात्रों के एक प्रतिनिधिमंडल ने रविवार को चीफ़ जस्टिस को पत्र लिखकर पेड़ों की कटाई के मामले में संज्ञान लेने का अनुरोध किया था।

पत्र में कहा गया कि मुंबई प्रशासन द्वारा शहर के फेफड़े कहे जाने वाले इन पेड़ों को काटा जा रहा है। इतना ही नहीं शांतिपूर्ण तरीके से इसका विरोध करने वाले हमारे दोस्तों को भी जेल में डाल दिया गया। हमारे पास उपयुक्त याचिका दायर करने के लिए समय नहीं था, लिहाजा सुप्रीम कोर्ट अपने न्यायिक क्षेत्राधिकार का प्रयोग कर इसमें तत्काल हस्तक्षेप करे।

वरिष्ठ वकील तुषार मेहता महाराष्ट्र सरकार का पक्ष रख रहे हैं। वहीं वरिष्ठ वकील मनिंदर सिंह मुंबई मेट्रो की तरफ से कोर्ट में मौजूद हैं। याचिकाकर्ता की तरफ से वकील संजय हेगड़े कोर्ट में पेश हुए हैं।

बता दें कि आरे जंगल के बचाव में कई हस्तियां भी सामने आयी हैं। जिनमें फरहान अख्तर, दिया मिर्जा, ऋचा चड्ढा, करण जौहर आदि का नाम शामिल है। वहीं महाराष्ट्र में भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना भी आरे जंगल की कटाई के खिलाफ है।

Loading...