Tuesday, June 22, 2021

 

 

 

तब्लीगी जमात के खिलाफ मीडिया रिपोर्ट पर सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को लगाई फटकार

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने तब्लीगी जमात के सिलसिले में सांप्रदायिक भावनाओं को हवा देने के लिए भारतीय मीडिया के एक वर्ग के खिलाफ कार्रवाई करने की याचिका पर सुनवाई करते हुए गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशासन को फटकार लगाई।

सीजेआई बोबड़े ने कहा, “हम प्रसारण के बारे में चिंतित हैं जो हिंसा भड़काते हैं।” उन्होने कहा, “निष्पक्ष और सच्ची रिपोर्टिंग कोई समस्या नहीं है। लेकिन दूसरों को परेशान करने के लिए ऐसा करना बड़ी समस्या है।

न्यायालय ने कहा कि ऐसी खबरों पर नियंत्रण उसी प्रकार से जरूरी हैं। कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए ऐहतियाती उपाय किए जाने चाहिए। कोर्ट ने कहा, “हम लोगों के बारे में इतना चिंतित नहीं हैं, लोग इन दिनों कुछ भी कह रहे हैं। हम उन स्थितियों से चिंतित हैं जो हिंसा पैदा कर सकती हैं और संपत्ति और जीवन को नुकसान पहुंचा सकती हैं।”

प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे की अगुवाई वाली पीठ ने केंद्र की तरफ से पेश हुए सॉलीसीटर जनरल तुषार मेहता से कहा, ” तथ्य यह है कि कुछ ऐसे कार्यक्रम हैं,  जिनके प्रभाव भड़काने वाले हैं और आप सरकार होने के नाते इस पर कुछ नहीं कर रहे हैं। पीठ में न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति वी रामसुब्रमण्यम भी शामिल हैं।

पीठ ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम हैं, जो भड़काने वाले होते हैं या एक समुदाय को प्रभावित करते हैं। लेकिन एक सरकार के नाते, आप कुछ नहीं करते। न्यायमूर्ति बोबड़े ने कहा कि  आपने किसानों के दिल्ली यात्रा पर आने के कारण इंटरनेट और मोबाइल सेवा बंद कर दी। मैं गैर विवादास्पद शब्दावली का इस्तेमाल कर रहा हूं। आपने मोबाइल इंटरनेट बंद कर दिया। ये ऐसी समस्याएं हैं,  जो कहीं भी पैदा हो सकती हैं। मुझे नहीं पता कि कल टेलीविजन में क्या हुआ।

पीठ ने कहा कि निष्पक्ष और सत्यपरक रिपोर्टिंग आमतौर पर कोई समस्या नहीं है, समस्या तब होती है जब इसका इस्तेमाल दूसरों को परेशान करने के लिए किया जाता है। यह उतना ही जरूरी है जितना किसी पुलिसकर्मी को लाठी मुहैया कराना। यह कानून-व्यवस्था की स्थिति का अहम ऐहतियाती हिस्सा है। शीर्ष अदालत ने कहा कि टीवी पर लोगों द्वारा कही जा रही बातों में उसकी कोई दिलचस्पी नहीं है, लेकिन उसे उन कार्यक्रमों को लेकर चिंता है जिनका उसर भड़काने वाला होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles