गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजें आने से ठीक पहले VVPAT पर्ची की ईवीएम के वोटो के साथ मिलान को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने इस सबंध में कांग्रेस की याचिका को ख़ारिज कर दिया है.

कोर्ट ने कहा कि चुनाव सुधारों के लिए कांग्रेस अलग से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर सकती है. जस्टिस डीवाई चंद्रचूड ने कहा कि कोर्ट चुनाव आयोग के फैसले में तब तक दखल नहीं दे सकता जब तक याचिकाकर्ता ये साबित ना करे कि आयोग का फैसला मनमाना है.

दरअसल गुजरात कांग्रेस के मोहम्मद आरिफ राजपूत ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करके मांग की थी कि चुनाव आयोग 50 हजार ईवीएम मशीनें वीवीपीएटी से जुड़ी हैं मगर वो एक बूथ एक मशीन पर ही पेपर ट्रेल से जांच कर रहा है.

कांग्रेस ने याचिका में कहा था कि चुनाव आयोग को ये निर्देश दिया जाए कि 20 फीसदी मशीनें की गणना को वीवीपीएटी के पेपर ट्रेल से मिलान कराया जाए. इसी मुद्दे के लेकर अब शुक्रवार को कांग्रेस ने बड़ी बैठक बुलाई है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने गुरुवार शाम को आए एग्जिट पोल के नतीजों को गलत ठहराया है. उन्होंने कहा कि उन्हें गुजरात में जीत का भरोसा है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?