मानहानि मामले में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। इसके साथ ही कोर्ट ने राहुल को भविष्य में संभलकर बोलने की नसीहत दी।कोर्ट द्वारा उनकी माफ़ी को स्वीकार कर लिया गया, जिसके बाद यह साफ़ हो गया कि अब उनके खिलाफ मानहानि का केस नहीं चलेगा।

राहुल गांधी पर आरोप था कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने के लिए राफेल डील मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को तोड़-मरोड़ कर पेश किया, जिससे कोर्ट की अवमानना हुई है। बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी की ओर से दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है।

इसी बीच राहुल ने ट्वीट किया है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस जोसेफ ने फैसला सुनाते हुए राफेल घोटाले की जांच के दरवाजे खोल दिए हैं। लिहाजा अब इस मामले की जांच पूरी गंभीरता से होनी चाहिए।

इस घोटाले की जांच के लिए एक संयुक्त संसदीय समिति (JPC) का गठन किया जाना चाहिए। राहुल गांधी का यह ताजा बयान राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट की तीन न्यायमूर्तियों की पीठ के फैसले के बाद आया है।

गुरुवार को राफेल डील मामले में सुप्रीम कोर्ट की तीन न्यायमूर्तियों की पीठ ने फैसला सुनाया था और पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज किया था।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन