कोहिनूर हीरे को लेकर चल रही सुनवाई को सुप्रीम कोर्ट ने इस टिपण्णी के साथ बंद कर दिया कि अदालत ब्रिटेन को हीरा लौटाने का आदेश जारी नहीं कर सकती हैं.

सर्वोच्च न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति जगदीश सिंह केहर की अध्यक्षता वाली पीठ ने एनजीओ ऑल इंडिया ह्यूमन राइट्स एंड सोशल जस्टिस की कोहिनूर हीरा को देश में वापस लाने का निर्देश देने संबंधी याचिका खारिज करते हुए यह कहा, “हम हैरान हैं कि एक भारतीय अदालत ब्रिटेन में मौजूद किसी चीज को वापस लाने का आदेश कैसे दे सकती है?”

उन्होंने आगे कहा, ‘हम केंद्र के जवाब से संतुष्ट हैं कि सरकार प्रयास कर रही है. इसलिए इस मामले में अदालत को आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है. वैसे भी, राजनयिक कोशिशों पर निगरानी रखना अदालत का काम नहीं है.’ साथ ही चीफ जस्टिस खेहर की बेंच ने इसे ‘तुच्छ’ करार देते हुए कहा, ‘हम हैरान हैं कि किस तरह की याचिकाएं दाखिल की जाती हैं.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल याचिकाकर्ता एनजीओ ने अदालत से यह आदेश देने की मांग की थी कि ब्रिटेन कोहिनूर हीरे की नीलामी न करे. बता दें कि ब्रिटिश सरकार ने 2013 में कोहिनूर वापस देने की मांगों को खारिज कर दिया था.

Loading...