hajimehboob dec6

hajimehboob dec6

अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान सुन्‍नी सेंट्रल वक्‍फ की ओर से पेश हुए वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता कपिल सिब्‍बल की दलीलों पर बोर्ड ने नाराजगी जाहिर की है.

बोर्ड के सदस्य हाजी महबूब ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, ‘हां कपिल सिब्बल हमारे वकील हैं लेकिन वो एक राजनीतिक दल से भी संबंध रखते हैं. मंगलवार (5 दिसंबर) को सुप्रीम कोर्ट में दिया गया उनका बयान गलत है. हम इस समस्या का समाधान जल्द से जल्द चाहते हैं.

दरअसल, कपिल सिब्बल ने कोर्ट से चुनावों का हवाला देकर इस मामले की सुनवाई जुलाई के बाद करने की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि राम मंदिर का निर्माण बीजेपी के 2014 के घोषणापत्र में शामिल है, कोर्ट को बीजेपी के जाल में नहीं फंसना चाहिए.  ऐसे में अदालत को 2019 के आम चुनाव के बाद सुनवाई करनी चाहिए.

इसके अलावा उन्होंने कहा था, कोर्ट को देश में गलत संदेश नहीं भेजना चाहिए, बल्कि एक बड़ी बेंच के साथ मामले की सुनवाई करनी चाहिए. देश का माहौल अभी ऐसा नहीं है कि इस मामले की सुनवाई सही तरीके से हो सके. उन्होंने कहा, मामले की सुनवाई 5 या 7 जजों बेंच के जरिए की जानी चाहिए.

हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने सिब्बल की इन दलीलों को नहीं माना और सुनवाई की अगली तारीख आठ फरवरी तय कर दी. इस बारे में हाजी महबूब ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट में दिया गया सिब्बल का बयान उनकी निजी राय थी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?