Thursday, October 28, 2021

 

 

 

सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या में मस्जिद के लिए जमीन का मिला कब्जा

- Advertisement -
- Advertisement -

अयोध्या में बाबरी मस्जिद के स्थान पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सुन्नी वक्फ बोर्ड को मस्जिद बनाने के लिए दी गई पांच एकड़ जमीन पर कब्जा मिल गया है। अयोध्या के सोहावल तहसील के रौनाही धन्नीपुर स्थित जमीन पर सोमवार को जमीन का सीमांकन किया गया । जिसके बाद जमीन का कब्जा सुन्नी वक्फ बोर्ड को दे दिया गया।

जमीन की माप नायब तहसीलदार सोहावल विनय कुमार बर्नवाल की अगुवाई में और वक्फ बोर्ड के प्रतिनिधि फरहान हबीब की मौजूदगी में की गई। नायब तहसीलदार के अनुसार, मस्जिद के लिए जमीन की माप करा कर कब्जा दे दिया गया है। मस्जिद के लिए प्रस्तावित भूमि की सहमति के बाद बोर्ड को अधिकार पत्र सौंपा गया।

सोहावल तहसील के राजस्व अभिलेखों में वह भूमि सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की मस्जिद के नाम दर्ज कर दी गई। राजस्व अभिलेखों में वक्फ बोर्ड के नाम जमीन दर्ज होने के बाद नायब तहसीलदार की अध्यक्षता में माप लेने के लिए कमेटी गठित की गयी थी। बोर्ड और ट्रस्ट के लोग जब चाहेंगे मेड़बंधवा दी जाएगी।

वहीं मस्जिद निर्माण के लिए इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन एक अलग बैंक अकाउंट खोलने जा रहा है। जिसमें बैंक के ब्याज का भी पैसा नहीं लग सकता है। साथ ही शराब बिक्री सहित इस्लाम में वर्जित तरीके से कमाया हुआ पैसा भी इसमें नहीं लगेगा।

फाउंडेशन ने अपनी पहली बैठक कर बैंक अकाउंट खोलने को मंजूरी दे दी है। वर्चुअल बैठक में दो अलग-अलग बैंक अकाउंट खोलने का प्रस्ताव पास हुआ। मस्जिद निर्माण के लिए अलग बैंक अकाउंट खोला जाएगा। इसमें ईमानदारी व गाढ़ी कमाई का ही ‘पवित्र धन’ दान लिया जाएगा।

इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट के सचिव व प्रवक्ता अतहर हुसैन ने बताया कि शरीयत के मुताबिक नापाक कमाई यहां तक की बैंक से मिलने वाला ब्याज तक मस्जिद निर्माण के लिए नहीं दिया जा सकता है। इसलिए मस्जिद के दान के लिए अलग बैंक अकाउंट खोला जाएगा जिसमें लोग अपनी मेहनत की कमाई से दान दे सकेंगे।

वहीं, अस्पताल, सामुदायिक रसोईघर, म्यूजियम, रिसर्च सेंटर व लाइब्रेरी सहित अन्य जन सुविधाओं के निर्माण के लिए एक अलग बैंक अकाउंट खोला जाएगा। अकाउंट खुलने के बाद ट्रस्ट ऑनलाइन डोनेशन लेना शुरू करेगा। दोनों ही अकाउंट प्राइवेट बैंकों में खोले जाएंगे। इसमें किसी भी पेमेंट गेटवे से पैसा दान दिया जा सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles