Wednesday, January 19, 2022

सुन्नी दावते इस्लामी का इज्तिमा रविवार को, देश-विदेश के उलामा संबोधित करेंगे

- Advertisement -
  • जयपुर के करबला मैदान में आयोजन
  • जयपुर शहर का पहला राष्ट्रीय इज्तिमा
  • हज़ारों लोगों के पहुंचने की उम्मीद
  • देश-विदेश के उलामा संबोधित करेंगे

जयपुर। देश के सबसे बड़े सूफ़ी आध्यात्मिक आंदोलन सुन्नी दावते इस्लामी यानी एसडीआई का राजस्थान में प्रथम राष्ट्रीय इज्तिमा रविवार को ऐतिहासिक करबला मैदान में आयोजित किया जाएगा। एक दिन के लिए आयोजित इस सम्मेलन में देश-विदेश के प्रखर इस्लामवेत्ता और सूफी विचारक लोगों को सामाजिक और आध्यात्मिक बुराइयों से बचने के लिए संबोधित करेंगे। देश निर्माण में मुस्लिम युवा की भूमिका और सामाजिक समरसता पर आख्यान होंगे।

शहर के पिंकसिटी प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में सुन्नी दावते इस्लामी के जयपुर शहर प्रभारी सैयद मुहम्मद क़ादरी ने बताया कि इस आयोजन में सबसे प्रमुख नाम ब्रिटेन के वर्ल्ड इस्लामिक मिशन के महासचिव क़मरुज्ज़मा आज़मी का है। वह अपने संबोधन में सूफीवाद के प्रमुख तत्वों पर प्रकाश डालते हुए यह बताएंगे कि व्यक्ति को अपने चरित्र निर्माण में किन बिन्दुओं पर ध्यान केन्द्रित करना चाहिए। जनसभा में सुन्नी दावते इस्लामी के संस्थापक प्रमुख हाफ़िज़ मुहम्मद शाकिर नूरी भी संबोधित करेंगे। एसडीआई की गतिविधियों पर प्रकाश डालते हुए शाकिर नूरी बताएंगे कि इस आंदोलन ने अब तक शैक्षणिक एवं सामाजिक उत्थान में कितना कार्य किया है। राजस्थान में अब तक 12 से अधिक स्कूलों और मकतब की स्थापना एसडीआई ने की है। इसके अलावा ब्रिटेन के सॉलिसीटर मोईनुज़्ज़मा आज़मी भी संबोधित करेंगे। वह बताएंगे कि सूफ़ीवाद को जीवन में उतारने से भारत के मुस्लिम युवा शैक्षणिक और आध्यात्मिक क्षेत्र में सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए एसडीआई के कार्यकर्ता मुफ़्ती ख़ालिद अय्यूब मिस्बाही ने बताया कि भारत के सूफी युवाओं के बीच लोकप्रिय प्रचारक अमीनुल क़ादरी भी संबोधित करेंगे। अमीनुल क़ादरी अपने बयान में सूफ़ीवाद के सफल प्रयोगों की जानकारी देते हुए युवाओं को नशा, व्याधि, सम्मोहन से बचने और तकनीक के सकारात्मक इस्तेमाल के बारे में गाइड करेंगे। जयपुर शहर मुफ्ती अब्दुल सत्तार रिज़वी जनसभा में शहर के अमन में सूफ़ीवाद की भूमिका पर प्रकाश डालेंगे। एसडीआई के राजस्थान प्रभारी फैयाज़ अहमद रिज़वी साहब महिला शिक्षा पर विशेष संबोधन देते हुए महिला सशक्तिकरण में अब तक राजस्थान में एसडीआई की भूमिका को समझाएंगे।

मुफ्ती ख़ालिद अय्यूब मिस्बाही ने बताया कि इन सबके अलावा हाशमिया कॉलेज, मुम्बई के प्रिंसिपल क़ारी रिज़वान साहब युवाओं को आधुनिक व्यावहारिक शिक्षा के महत्व के बारे में बताएंगे। नागौर ज़िले के बासनी से आ रहे हाफ़िज़ अल्लाहबख़्श साहब मदरसा शिक्षा के आधुनिकीकरण में सुन्नी दावते इस्लामी के कामयाब प्रयोग की जानकारी देंगे। अजमेर से पधार रहे सुल्तानुल हसन चिश्ती सूफ़ीवाद में महिला अधिकारों पर आख्यान देंगे।

पत्रकार सभा में सुन्नी दावते इस्लामी के जयपुर शहर प्रभारी सैयद मुहम्मद क़ादरी ने बताया कि हमारा सूफ़ी आध्यात्मिक आंदोलन अन्तरराष्ट्रीय है औऱ इसके तहत कई स्कूलों और मदरसों के माध्यम से क्वालिटी शिक्षा उपलब्ध करवाई जा रही है। मुफ़्ती ख़ालिद अय्यूब मिस्बाही ने बताया कि जयपुर में एसडीआई एक सीनियर सैकंडरी, एक सैकंडरी और एक आधुनिक शिक्षण सुविधायुक्त महिला मदरसा चला रहे हैं जिसमें सैकड़ों बच्चे पढ़ रहे हैं।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles