सुरेश चव्हाणके ने UPSC पर उठाए सवाल, मुस्लिम आईएएस-आईपीएस को बताया जिहादी

कथित न्यूज़ चैनल चैनल सुदर्शन न्यूज के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके ने संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) पर उंगली उठाते हुए मुस्लिम आईएएस-आईपीएस के चयन को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होने 28 अगस्त को प्रसारित होने वाले अपने एक शो का ट्रेलर जारी किया।

जिसमे उन्होने दावा किया कि वह ‘कार्यपालिका में मुसलिम घुसपैठ’ का 28 अगस्त से ‘पर्दाफ़ाश’ करेंगे। इस पोस्ट में उन्होंने मुसलिमों के लिए ‘नौकरशाही जिहाद’ और ‘UPSC Jihad’ जैसे शब्दों का प्रयोग किया है। इस वीडियो में वह कहते हैं,  अचानक मुसलमान आईएएस, आईपीएस में कैसे बढ़ गए? ‘सोचिये, जामिया के जिहादी अगर आपके जिलाधिकारी और हर मंत्रालय में सचिव होंगे तो क्या होगा?’

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है, #सावधान लोकतंत्र के सबसे महत्वपूर्ण स्तंभ कार्यपालिका के सबसे बड़े पदों पर मुस्लिम घुसपैठ का पर्दाफ़ाश। #UPSC_Jihad #नौकरशाही_जिहाद देश को झकझोर देने वाली इस सीरीज़ का लगातार प्रसारण प्रतिदिन। शुक्रवार 28 अगस्त रात 8 बजे से सिर्फ सुदर्शन न्यूज़ पर।

ट्रेलर सामने आने के बाद भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) संगठन ने भी इसकी निंदा की है और इसे सांप्रदायिक एवं गैर-जिम्मेदाराना बताया है। संगठन ने ट्वीट कर कहा, ‘सुदर्शन टीवी पर एक न्यूज स्टोरी में धर्म के आधार पर सिविल सेवा के कर्मचारियों को टारगेट किया जा रहा है। हम इस तरह के सांप्रदायिक और गैर जिम्मेदाराना पत्रकारिता की निंदा करते हैं।’

इसके अलावा एक स्वतंत्र थिंक टैंक इंडियन पुलिस फाउंडेशन ने भी ट्रेलर की टोन के खिलाफ ट्वीट किया है और इसे ‘नफरत फैलाने’ तथा ‘कट्टरता का उदाहरण’ बताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘आईएएस/आईपीएस में शामिल होने वाले अल्पसंख्यक व्यक्तियों के खिलाफ नोएडा के टीवी चैनल पर चलाई जा रही हेट स्टोरी खतरनाक कट्टरता है, हम इसे रीट्वीट नहीं कर रहे हैं क्योंकि यह पूर्णतया जहर है। हमें उम्मीद है कि न्यूज ब्रॉडकास्टिंग स्टैंडर्ड अथॉरिटी, यूपी पुलिस और संबंधित सरकारी अथॉरिटी सख्त कार्रवाई करेगी।’

विज्ञापन