Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

भगत सिंह का रोल कर रहे छात्र ने गले में फंसा फांसी का फंदा, और फिर हुई दर्दनाक मौत

- Advertisement -
- Advertisement -

मध्य प्रदेश के मंदसौर में स्कूल के वार्षिकोत्सव में शहीद भगत सिंह (bhagat singh) औऱ सुखदेव के जीवन पर आधारित नाटक की प्रेक्टिस के दौरान फांसी पर लटकने का सीन करने की कोशिश में बच्चे की मौत हो गई।

मंदसौर के भोलिया गांव में रहने वाले 12 साल के छात्र प्रियांशु मालवीय की लाश उसके खेत में बने टपरे में मिली। बच्चे के गले में फांसी का फंदा कसा हुआ था। पुलिस के मुताबिक, प्रियांशु ज्ञानसागर स्कूल में पढ़ाई करता था। वह खेत पर बने टपरे में अपने नाटक का वीडियाे देख रहा था।

यहां उसने फांसी का सीन करने के लिए बल्ली पर रस्सी डाली। वह जिस खटिया पर खड़े होकर यह सीन कर रहा था वह दूसरी ओर से उठ गई और संतुलन बिगड़ने से फंदे पर झूूल गया। कुछ देर बाद वहीं काम कर रहे प्रियांशु के चाचा भारत लाल ने उसे देखा, तब तक बच्चे की मौत हो चुकी थी।

घटना स्थल से मोबाइल फोन मिला है। जिसमें स्कूल में हुए भगत सिंह के नाटक के मंचन का वीडियो था। उसी के आधार पर पुलिस औऱ परिवार का अनुमान है कि फांसी का सीन करने के प्रयास में प्रियांशु की मौत हुई है।

स्कूल के प्राचार्य अरुण जैन ने बताया कि प्रियांशु के पिता विनोद मालवीय सरकारी स्कूल में शिक्षक हैं। प्रियांशु तीन भाइयों में सबसे बड़ा था, लेकिन वह स्कूल कम ही आता था। उसके पिता के कहने पर ही हमने उसे नाटक में अंग्रेज सिपाही का रोल दिया था। नाटक में भी फांसी वाला कोई सीन नहीं था। प्रियांशु के मन में यह बात कहां से आई, यह हमारी भी समझ से परे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles