Wednesday, December 1, 2021

कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या, पीएम मोदी को बताया जिम्मेदार

- Advertisement -

केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार के किसानों के उत्थान के दावो के बावजूद किसानों की आत्महत्या का सिलसिला रुक नहीं रहा है. विदर्भ क्षेत्र में एक और किसान ने खुदख़ुशी कर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली है. किसाने आत्महत्या के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार बताया.

पुलिस के अनुसार, किसान की पहचान शंकर चयारे (50) के तौर पर हुई है. विदर्भ क्षेत्र के यवतमाल जिले का रहने वाले शंकर ने अपनी मौत के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया है.

पुलिस ने बताया कि चयारे ने कथित रूप से जहरीली रसायन पी लिया था, जिसके बाद इलाज के लिए यवतमाल ले जाने के दौरान उनकी मौत हो गई. कीड़ों के हमले से कपास की फसल को हुए नुकसान को किसान की आत्महत्या का मुख्य कारण माना जा रहा है. पुलिस ने बताया कि एक कथित सूसाइड नोट भी बरामद हुआ है.

यवतमाल के पुलिस अधीक्षक राज कुमार ने बताया, ‘पुलिस ने कथित सूइसाइड नोट जब्त किया है. इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम है और खुदकुशी के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया गया है , लेकिन हम इसकी सत्यता और मौत के कारणों को सत्यापित कर रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार है जिसके बाद कथित सुसाइड नोट की सत्यता का पता लगाया जाएगा.

कुमार ने बताया कि चयारे ने स्थानीय ऋण सहकारी समिति से 90,000 रुपये और साहूकार से तीन लाख रुपये उधार ले रखे थे. शंकर चयारे यवतमाल जिले के घतंजी थाना क्षेत्र के तहत आने वाले राजुरवाड़ी गांव का रहने वाले थे.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles