Sexual harassment case: godman's bail plea rejected

नाबालिग से बलात्कार मामले में जोधपुर की अदालत द्वारा दोषी करार दिए गए हिन्दू धर्मगुरु आसाराम का बीजेपी राज्यों में जमकर महिमामंडन किया हुआ है. मध्य प्रदेश में तो बस स्टैंड से लेकर चौराहे के नाम आसाराम पर रखे गए है.

बलात्कारी आसाराम को सजा सुनाए जाने के बाद इन चौराहों का नाम बदलने की मांग उठना शुरू हो गई है. भोपाल की सामाजिक कार्यकर्ता रचना धींगरा ने वीडियो जारी कर ये मांग उठाई है.

उन्होंने वीडियो में कहा कि नाबालिग से बलात्कार में आसाराम दोषी करार दिए गए, मगर दुर्भाग्य है कि मध्य प्रदेश में चौराहों और बस स्टैंड का नामकरण उनके नाम पर हुआ है। अब आसाराम बलात्कारी घोषित हो गए हैं, ऐसे में ये चौराहे क्या संदेश देंगे?

इस वीडियो को रोजगार सेना प्रमुख अक्षय हंका ने रीट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को टैग किया और पूछा कि-कृपया रचना धींगरा की मांग पर अपना दृष्टिकोण स्पष्ट करें. जिस पर मुख्यमंत्री ने जवाब दिया कि हम उचित कार्यवाही करेंगे.

शिवराज ने ट्वीट में लिखा, हमारे देश में संविधान, क़ानून, और जनभावना से ऊपर कुछ भी नहीं हैं, यह वह देश है जहाँ पर औरंगज़ेब रोड का भी नाम बदल दिया गया है. जल्द ही इस मामले पर भी उचित कार्यवाही करेंगे.

बता दें कि भोपाल में अयोध्या बाईपास पर गांधी नगर मैन रोड पर और इंदौर में आईटी पार्क के करीब एक चौराहे का नाम आसाराम के नाम पर है. आम आदमी पार्टी मध्य प्रदेश के संयोजक और राष्ट्रीय प्रवक्ता आलोक अग्रवाल ने भी चौराहों के नाम तुरंत बदलने की मांग की है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें